Pehchan Faridabad
Know Your City

ओयो ले डूबा शहर की नैया, अय्याशी के पथ पर अग्रसर स्मार्ट सिटी : मैं हूँ फरीदाबाद

नमस्कार! मैं फरीदाबाद आज एक बड़ी खबर लेकर आप सभी के बीच हाज़िर हुआ हूँ। आजकल मेरी आवाम अय्याशी में मशगूल हो रखी है। मैं जानता हूँ यह बात सुन आप सभी के कान खड़े हो गए पर यही सच है।

महामारी के दौर में भी फरीदाबाद की जनता को ओयो भ्रमण का चस्का लगा हुआ है। मैं इस बात से पूर्णतः अवगत हूँ कि ओयो जाना किसी की मजबूरी भी हो सकती है। पर फरीदाबाद में अय्याशी का खेल खेलना अब लोगों के लिए आम बात हो चुकी है।

अब बल्लभगढ़ की ही कहानी ले लीजिये जहां सेक्स रैकेट का भंडाफोड़ हुआ है। प्रांगण में मेट्रो स्टेशन के पास ऑयो होटल से चार युवकों सहित तीन महिलाओं को मौके से पकड़ा जाता है। रात के अँधेरे में मानों हर कोई मेरी नाक के नीचे फरेब की माला जप रहा हो।

अब यह पूरा मामला पुलिस द्वारा संज्ञान में लिया जा चूका है। नवलू कॉलोनी के मकान में सेक्स रैकेट की सूचना मिलते ही वहाँ पुलिस के दस्ते ने दस्तक दी और अपराधियों को धर दबोचा। आपको बता दूँ कि इस मामले में जो 4 पुरुष पकड़े गए हैं वह सभी मेरे निवासी हैं।

पकड़े गए चारों युवकों बल्लभगढ़ के समयपुर, अहिरवाड़ा, राजीव कॉलोनी के रहने वाले हैं। शहर में बने ओयो होटल अब मेरे गले की हड्डी बनते जा रहे हैं। न जाने कब कहाँ से कोई वारदात सुनने को मिल जाती है। कभी फरार हुआ नामचीन गैंगस्टर आ जाता है जो ओयो को अपना घर बनाता है।

कभी कसीनों का किस्सा शहर की गलियों में आम हो जाता है। याद नहीं तो याद दिला दूँ कि जब विकास दूबे ने मेरी चौखट पर कदम रखे थे तब उसने भी अपना डेरा ओयो में ही जमाया था। कुछ दिन पूर्व ही गैरकानूनी तरीके से बने एक कसीनो की ख़बरों ने तूल पकड़ा था।

जानते हैं उस कसीनो को किसने पनाह दी हुई थी? उस सट्टेबाज कसीनो को गोद में झुलाने वाला ओयो ही था। अब कौन देगा इस पूरे मामले की जवाबदेही ? जिस गैर कानूनी तरीके से मेरे प्रांगण में काम किया जा रहा है वह दिन दूर नहीं जब फरीदाबाद उद्योगिक नगरी से बदलकर जुर्म का गढ़ बन जाएगा।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More