Pehchan Faridabad
Know Your City

रावण ने मंदोदरी को बताए थे ये 8 अवगुण जो आजकल प्रत्येक स्त्रियो में पाए जाते है , जरूर जानिए

रावण रामायण का एक प्रमुख प्रतिचरित्र है। रावण लंका का राजा था। वह अपने दस सिरों के कारण भी जाना जाता था, जिसके कारण उसका नाम दशानन (दश = दस + आनन = मुख) भी था। रावण में अनेक गुण भी थे। सारस्वत ब्राह्मण पुलस्त्य ऋषि का पौत्र और विश्रवा का पुत्र रावण एक परम भगवान शिव भक्त, उद्भट राजनीतिज्ञ , महाप्रतापी, महापराक्रमी योद्धा, अत्यन्त बलशाली , शास्त्रों का प्रखर ज्ञाता, प्रकान्ड विद्वान, पंडित एवं महाज्ञानी था।

रावण एक महापंडित था, जिसने कठोर तप कर के ढेर सारा ज्ञान प्राप्त किया था।रावण की एक पत्‍नी थी, जिसका नाम मंदोदरी था और वह उससे अति प्रेम करता था।

लेकिन रामचरित मानस के अनुसार जब रावण ने सीता का हरण कर लिया तब उसके बाद श्रीराम वानर सेना सहित समुद्र पार करके लंका पहुंच गए थे, तब मंदोदरी घबरा गई और उसने रावण के पास जा कर कहा कि आप युद्ध ना करें और सीता को वापस उनके पति श्रीराम के हवाले कर दें और उनसे क्षमा मांग लें।

यह सुनने के बाद रावण अपी पत्‍नी पर हंसा और महिलाओं के आठ अवगुणों को सुनाने लगा
आइये जानते हैं कि रावण ने स्त्रियों के कौन से 8 अवगुण बताए थे।

पहला अवगुण – महिला में बहुत ज्‍यादा साहस होना। इसके चलते वो कई बार उस जगह पर साहस का प्रदर्शन कर देती हैं, जहां उन्‍हें नहीं करना चाहिये। इससे उन्‍हें और उनके परिवार वालों को बाद में पछताना पड़ता है। साहस को दु:साहस नहीं बनाना चाहिये।

दूसरा अवगुण – रावण ने कहा था कि महिलाएं बात बात पर झूंठ बोलती हैं, लेकिन उन्‍हें नहीं पता कि झूंठ ज्‍यादा दिनों तक छुप नहीं पाता।

तीसरा अवगुण – काफी चंचल होती हैं। उनका मन बार बार बदलता रहता है और उनके मन की बात को समझना काफी मुश्‍किल होता है।

चौथा अवगुण – महिलाये कई बार दूसरों के खिलाफ साजिश भी रचती हैं ताकि परिस्थिति उनके अनुकूल हो। अपना काम सिद्ध कराने के लिए महिलाएं क्या-क्या करती हैं, इसकी भी चर्चा की है रावण ने।

पांचवां अवगुण – महिलाएं एक ओर तो साहसी होती हैं मगर वे उतनी ही जल्‍दी घबरा भी जाती हैं। अगर उन्‍हें लगता है कि काम उनके मुताबिक नहीं हो रहा है तो, वह बदलाव देख घबरा जाती हैं।

छठा अवगुण – महिलाएं थोड़ी मूर्ख भी होती हैं। वे बिना सोचे समझे फैसला कर लेती हैं और बड़ी समस्या में पड़ जाती हैं और इसका पता उन्‍हें बड़ी देर से होता है।

सातवां अवगुण – महिलाएं देखने में चाहे कितनी भी सुंदर हों, खूबसूरत गहने और साड़ी पहने, लेकिन वह साफ-सफाई का ध्‍यान नहीं रखती।

आठवां अवगुण – स्त्रियों को पुरुषों के मुकाबले दयालु माना जाता है, लेकिन रावण के अनुसार स्त्रियां निर्दयी होती है। वे अगर कभी दया का भाव छोड़ दे यानि निर्दयी हो जाए तो कभी भी दया नहीं दिखाती।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More