Pehchan Faridabad
Know Your City

पूर्व सीएम भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने भाजपा जजपा के गठबंधन को बताया आमजन के लिए खतरा

शुक्रवार को भाजपा-जजपा गठबंधन सरकार पर टिप्पणी करते हुए पूर्व सीएम और नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि यह गठबंधन केवल आमजन को झूठे सपने दिखा रहा है, और उनके साथ जुमलेबाजी कर उनका भरोसा जीतने का प्रयास कर रहा है।

उन्होंने कहा कि आज तक यह आमजन से जो वायदे करते आए हैं, उसे वास्तव में कभी धरातल पर सच करके नहीं दिखाया। वहीं उन्होंने किसानों का पक्ष लेते हुए कहा कि देश की रीढ़ कहीं जाने वाली किसान सड़कों पर विरोध प्रदर्शन कर रही है और उनकी फसल मंडी में पिट रही है।

हुड्डा ने आगे बताया कि पिछले सीजन में गेहूं और इस बार धान का एम.एस.पी. तक किसान को नहीं मिल पा रहा है। जो धान हमारी सरकार दौरान 4 से 6 हजार रुपए प्रति क्विंटल रेट पर पहुंच गई थी वह आज 1700-1800 रुपए में पिट रही है।

नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि 2007 में उनकी सरकार ने जब कांट्रैक्ट फामग का कानून बनाया था तब उसमें एम.एस.पी., बैंक गारंटी और मार्कीट रेट से 15 प्रतिशत ज्यादा पर खरीद का प्रावधान जोड़ा था लेकिन मौजूदा सरकार ने किसानों की बजाय पूंजीपतियों के हित में कानून बनाए हैं। इन कानूनों से धीरे-धीरे मंडी, एम.एस.पी. और किसानी खत्म हो जाएगी।

उन्होंन यह भी कहा केंद्र सरकार ने किसानों के हित के नाम पर जो तीन कृषि अध्यादेश लागू किए वह भी किसानों केे लिए हितेषी नहीं है। उन्होंने कहा कि इन कानूनों में एम.एस.पी. का कहीं कोई जिक्र नहीं है।

यही कारण है कि विपक्षी नेताओं द्वारा और किसानों द्वारा लगातार चौथे कानून की मांग की जा रही है। उन्होंने आगे कहा कि वह इस बार विधानसभा में पंजाब की तर्ज पर प्राइवेट मैंबर बिल लेकर आएंगे। बावजूद अगर सरकार फिर भी अपनी जिद्द पर अड़ी रही तो हमारी सरकार आते ही इन कानूनों को खारिज कर दिया जाएगा।

वहीं शुक्रवार को रोहतक के भाजपा सांसद डॉ अरविंद शर्मा ने टिप्पणी करते हुए कहा कि धोखाधड़ी और गुंडागर्दी उनकी नहीं बल्कि कांग्रेसियों की फितरत में है। उन्होंने यह भी कहा कि यदि दीपेंद्र सिंह हुड्डा ने जोर जबस्ती ना की होती तो वह भी कम से कम 2 लाख वोट से जीत ही जाते।

उन्होंने दीपेंद्र हुड्डा के उस आरोप पर टिप्पणी करते हुए कहा जिसमें उन्होंने पिछले संसदीय चुनाव में रोहतक से पर उन्हें हराने के लिए उनके खिलाफ साजिश होने की बात कही थी। उनका कहना है कि पूरी प्रक्रिया में गड़बड़ दीपेंद्र हुड्डा द्वारा की गई थी ना कि उनके द्वारा।

शुक्रवाार को इंडियन नेशनल लोक दल के सुप्रीमो और पूर्वव सीएम ओमप्रकाश चौटाला नेे बरोदा उपचुनाव पर कहा कि अगर भाजपा-जजपा गठबंधन का प्रत्याशी हार गया तो दोनों दलों के विधायकों में भगदड़ मच जाएगी। वे दूसरे दलों में कूदेंगे। इससे सरकार अल्पमत में रह जाएगी तथा मध्यावधि चुनाव करवाना अनिवार्य हो जाएगा।

उन्होने अपने नाम से नारेबाजी कर रहे इनैलो कार्यकर्ताओं को पार्टी सुप्रीमो ने नसीहत दी कि वे किसी आदमी के नाम से नहीं, पार्टी के नाम से नारे लगाएं। उन्होंने यह भी कहा कि अकेले नारे लगाने से काम चलता तो यह काम मैं अकेले ही कर लेता। मैं कहने में नहीं, करने में यकीन रखता हूं।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More