Pehchan Faridabad
Know Your City

मोरपंख रखने के फायदे जानकर हो जाएंगे आप भी हैरान

हिंदू धर्म में मोरपंख बहुत ही महत्वपूर्ण माना जाता है। मोर पंख को श्री कृष्ण के मुकुट पर स्थान मिला है और इंद्रदेव भी मोर पंख के सिंहासन पर ही बैठते थे। पुराने समय में ऋषि मुनियों के द्वारा भी मोर पंख का प्रयोग किया जाता था। किसी भी चीज को लिखने के लिए वह मोर पंख का उपयोग करते थे। एक कलम के रूप में मोर पंख का प्रयोग हुआ करता था। इसलिए वास्तु शास्त्र में भी मोर पंख को बहुत ही महत्वपूर्ण स्थान दिया गया है।

जिस प्रकार मोर का पंख दिखने में सुंदर और बहुत ही आकर्षित लगता है उसी प्रकार इसके बहुत से लाभ भी हैं। हमारे देवी -दवताओं को भी यह अत्यंत प्रिय हैं। मां सरस्वती, श्रीकृष्ण, इन्द्र देव, कार्तिकेय, श्री गणेश सभी को मोर पंख किसी न किसी रूप में प्रिय हैं। मोर पंखा में बुरी प्रकार की शक्तियां और नकारात्मक उर्जा जो हमारे घरों में प्रवेश करती है, उन्हें नष्ट करने की ताकत होती है माना जाता है कि मोर नकारात्मक ऊर्जा को दूर करने में सबसे प्रभावशाली है।

आइए जानते हैं क्या है मोर पंख को रखने के अद्भुत चमत्कार :-

जो व्यक्ति अपने घर में दो मोरपंखी रखता है उनके घर में हमेशा आपसी मेल बना रहता है। ऐसा कहा जाता है कि उस घर के लोगों को सफलता मिलती हैं और लोग आपस में मिल जुल कर रहते हैं। दो मोरपंखी रखने से घर के सदस्य कभी भी अलग नहीं होते और वह एकत्र परिवार की तरह रहते है।

घर पर मोर पंख रखने से सभी प्रकार की नकारात्मक ऊर्जा नष्ट हो जाती हैं और सकारात्मक उर्जा का वास होने लगता है। परिवार में खुशहाली आती है और धन की भी वृद्धि होने लगती है साथ ही आपसी लगाव बढ़ने लगता है।

ऐसा कहा जाता है कि अगर आपका बच्चा पढ़ने में कमजोर है या उसे पढ़ने में किसी प्रकार की मुश्किलें होती हैं तो उसके बैग में हमेशा एक मोर पंख रखें। मोर पंख रखने से बुद्धि में बढ़ोतरी होती है और दिमाग तेजी से चलने लगता है।

कुंडली में कालसर्प या पितृ दोष हो तो मोर पंख को अपने साथ जरूर रखें। ऐसा करने से आपके ऊपर कोई भी मुसीबते नही आती है। बुरी नजर उतारने के लिए मोर पंख का इस्तेमाल किया जाता है।

बच्चे के जिद्दी होने के कारण परेशान हैं तो सात मोर पंखों का बंडल बनाएं , बच्चे के चेहरे पर 7 बार ऊपर से नीचे घुमाएं उसके बाद घर के बाहर जाकर मोर पंख को छोड़ दे। ऐसा करने से सारी नेगेटिविटी दूर हो जाती है।

दोषों को दूर करने के लिए बांसुरी और मोर पंख का प्रयोग करना चाहिए। साथ ही ऐसा कहा जाता है कि घर की लाइब्रेरी में मोर पंख रखने से मां सरस्वती प्रसन्न होती है। अगर आपके घर में लाइब्रेरी नहीं है तो आप इस मोर पंख को वहां भी रख सकते हैं जहां आप अपनी किताबें रखते हैं।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More