Pehchan Faridabad
Know Your City

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने दिए आदेश ,लव जिहाद के एंगल से भी होगी जांच

निकिता मर्डर केस आज पुरे देश में नेशनल मुद्दा बन चूका है। एक घटना ने पूरा देश हिला के रख दिया है। घटना फरीदाबाद के बल्लभगढ़ की है। अग्रवाल कॉलेज में पड़ रही निकिता का दिन दहाड़े हत्या कर दी गयी ,मामले में लव जिहाद एंगल सामने आ रहा है । बताया जा रहा है , आरोपित तौसीफ काफी दिनों से निकिता से एकतरफा प्यार करता था।

वह कई बार निकिता से शादी की बात कर चुका था, लेकिन वह इनकार कर चुकी थी। इस बीच तौसीफ ने यह योजना भी बनाई थी कि वह निकिता का धर्म बदलवाकर उससे शादी करेगा। बता दें कि बल्लभगढ़ में सोमवार शाम को अग्रवाल कॉलेज के बाहर बीकाम फाइनल वर्ष की छात्रा निकिता की गोली मारकर हत्या करने की वारदात के 24 घंटे के भीतर लव जिहाद का कनेक्शन भी सामने आया है।

छात्रा की हत्या से प्रदेश के गृह मंत्री अनिल विज बेहद नाराज हैं। विज ने मंगलवार को ही इस मामले में एसआईटी (SIT) गठन करने का आदेश दिया था। इसके साथ ही उन्‍होंने SIT को लव जिहाद के एंगल से भी इस हत्‍याकांड की जांच करने के आदेश दिए हैं। अब 2018 में निकिता के अपहरण की भी जांच होगी। अनिल विज ने कहा कि आरोपियों के रिश्तेदार कांग्रेसी हैं और उन्हें अंदेशा है कि 2018 में कांग्रेसियों ने दबाव बनाकर परिवार से शिकायत वापस करवाई होगी। विज ने कहा कि प्रदेश की बेटियों को सिसक-सिसक कर मरने नहीं दूंगा।

निकिता की मां ने सरकार से मांग की है कि जैसे उनकी बेटी को मारा गया है, इसी तरह से पुलिस आरोपियों का भी एनकाउंटर करे. वहीं, उनका कहना है कि अगर इसी तरह 20 साल तक बेटियों को पालने के बाद उनकी कोई हत्या कर देगा तो फिर कोई बेटी क्यों पैदा करना चाहेगा. लोग बेटी पैदा होते ही मार देंगे. मृतका की मां बार-बार आरोपियों के एनकाउंटर की मांग कर रही हैं.

ये है मामला
हरियाणा में फरीदाबाद के बल्लभगढ़ में सोमवार को अग्रवाल कॉलेज के बाहर 21 वर्षीय युवती की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मृतक युवती का नाम निकिता है और वह परीक्षा देकर कॉलेज से बाहर निकल रही थी। इस दौरान बाहर सफेद रंग की आई-20 कार में मौजूद दो युवकों ने उसे जबरन किडनैप कर कार में बिठाने की कोशिश की थी। निकिता के पिता मूलचंद तोमर की मानें तो उनकी बेटी निकिता को तौसीफ द्वारा धर्म परिवर्तन के लिए बाध्य किया जा रहा था, जब निकिता ने इससे इनकार किया, तो उसकी इस तरह से हत्या कर दी गई। निकिता की हत्या को लेकर मंगलवार को बादशाह खान चौक पर विभिन्न हिंदूवादी संगठनों ने बढ़ते लव जिहाद के खिलाफ रोष प्रदर्शन कर दोषियों को कड़ी सजा दिलाने की मांग की।


निकिता शहर के एक निजी स्कूल में पांचवीं से 12वीं कक्षा तक पढ़ी है। आरोपित तौसीफ यूं तो कबीर नगर सोहना गुरुग्राम का मूल निवासी है, पर बल्लभगढ़ में निकिता के ही स्कूल में 12वीं कक्षा तक पढ़ा था और यहां हॉस्टल में रहता था। तभी से तौसीफ निकिता से एकतरफा प्यार करने लगा। साल 2018 में उसने निकिता का अपहरण कर लिया था। उस वक्त वह बालिग नहीं थी। तब तौसीफ के खिलाफ थाना शहर में मामला भी दर्ज हुआ था। तौसीफ और उसके परिवार वालों ने पैर पकड़कर माफी मांगी थी।


इस पर निकिता ने शोर मचाया और वहां से भागी तो आरोपी तौसीफ ने पीछा कर उसे नजदीक से गोली मार दी. गोली लगने से निकिता जमीन पर गिर पड़ी और उसकी मौत हो गई। निकिता के परिवारवालों का कहना है कि तौसीफ उससे धर्म परिवर्तन कर शादी करने का लगातार दबाव बना रहा था, लेकिन उनकी बेटी इससे इनकार कर रही थी।

तौसीफ फोन से या कॉलेज आते-जाते उससे संपर्क की कोशिश करता था। जब उसे लगा कि वह उसके साथ आने को तैयार नहीं है तो उसने एक बार फिर निकिता के अपहरण की योजना बनाई। उसकी योजना देशी पिस्तौल दिखाकर अपहरण करने की थी। उसने निकिता पर नजर रखना शुरू कर दिया। कॉलेज से उसे बीकाम आनर्स की डेटशीट पता चल गई। दो-तीन दिन उसने निकिता पर दूर खड़े रहकर नजर रखी थी, साथी रेहान को वह केवल अपहरण करने बात कहकर ही साथ लाया था। जब निकिता कॉलेज से निकली तो तौसीफ ने उसे साथ चलने के लिए कहा, मगर उसने साफ इन्कार कर दिया। इसके बाद उसने निकिता को हाथ पकड़कर कार तक खींचा, मगर उसे अंदर नहीं बिठा सका। तब उसने निकिता को गोली मार दी।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More