Pehchan Faridabad
Know Your City

सज़ा ऐसी मिले कि आशिक इश्क़ करना भूल जाए,निकिता हत्याकांड से आग बबूला हुआ देश

बल्लभगढ़ में बीते दिन जो हुआ उससे आज पूरा देश एक बार फिर देहल गया है। दिन दहाड़े एक हिन्दू बेटी की हत्या करने वाले दरिंदे आज भी ज़िंदा हैं। तौसीफ और रेहान मुसलमान हैं जो 19 साल की लड़की निकिता तोमर पर जबरन शादी कर धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाये हुए थे। निकिता ने अपने धर्म से निभायी तो अपने धर्म से वफ़ा का अंजाम यह हुआ कि निकिता को अपनी जान से हाथ धोना पड़ गया।

ऊँचे सपने देखने वाली, ज़िन्दगी में कुछ कर दिखाने का जज़्बा रखने वाली एक और बेटी दरिंदों के हत्थे मारी गयी और पूरा देश एक बार फिर गुस्से की अग्नि में सुलग रहा है और बार बार चिल्ला चिल्ला कर थी पुकार कर रहे है कि हमारी बेटियों को इन्साफ दो। इसी बीच, स्पेशल इन्वेस्टीगेशन टीम का गठन और पुलिस ने उन दोनों दरिंदों को धर दबोचा जो सिर्फ निकिता के ही गुन्हेगार नहीं हैं बल्कि पूरे समाज के दोषी हैं। इनकी छोटी सोच और गन्दी मानसिकता के कारण ही बेटियों की बलि चढ़ती रहती है और यह दरिंदे बेख़ौफ़ घूमते रहते हैं।

पुलिस ने फरीदाबाद कोर्ट में तौसीफ और रेहान को पेश किया तो कोर्ट ने दोनों ही पापियों को फिलहाल 2 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा है। सूत्रों के हवाले से खबर आयी है कि तौसीफ ने निकिता को गोली मार उसकी हत्या करने की वजह बताई है। उसने बताया है कि निकिता जल्द ही किसी और से शादी करने वाली थी और यह बात उसे कतई गवारा न थी। इसलिए उसने निकिता को सबक सिखाने की सोची और आखरी पेपर वाले दिन उसे मार डालने की साज़िश रची।

तौसीफ ने अपनी सफाई में यह भी कहा कि निकिता ने कई दफ़ा उसका प्रेम-प्रसंग ठुकराया जिससे उसके अहंकार को ठेस पहुंची जो वो बरदाश्त न कर सका। निकिता से शादी कर उसे मुसलमान बनाना चाहता था यह तौसीफ नाम का लड़का, बस इतनी ही बात काफी है क्यूंकि लोगों ने इस पूरे मामले को लव-जिहाद दे दिया है। अब लोग तौसीफ के लिए ऐसी सजा की मांग कर रहे हैं कि जिससे आशिक इश्क़ करना भूल जाए।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More