Pehchan Faridabad
Know Your City

एम्बुलेंस को जाम से बचाएगा स्मार्ट इंगेजमेंट ऑफ इमरजेंसी व्हीकल्स, जानें कैसे होगा ये संभव

सायरन बजाती सड़कों पर सरपट निकलती एंबुलेंस तो आपने कई दफ़ा देखि होंगी पर घंटो लम्बे जाम में एंबुलेंस को भी रास्ता न मिलने की वजह से मरीज़ गाड़ी में ही दम तोड़ देते हैं। समाज में ऐसी दुर्भाग्यपूर्ण घटनाएं अक्सर सुनने और देखने को मिलती हैं पर इन घटनाओं पर अंकुश लगा पाना असंभव बताया जाता है।

एंबुलेंस को जाम में फंसने की घटनाओं को ध्यान में रखते हुए ही जेसी बोस (वाइएमसीए) विश्वविद्यालय के इलेक्ट्रानिक्स इंजीनियरिंग के छात्र भारत पंत, हर्ष शर्मा एवं श्रेय अरोड़ा ने एंबुलेंस को ग्रीन कारिडोर उपलब्ध कराने वाला सिस्टम तैयार किया है। इसे स्मार्ट ट्रैफिक एंगेजमेंट ऑफ इमरजेंसी व्हीकल्स नाम दिया गया। इस सिस्टम में विशेष बात यह है कि एंबुलेंस को उन रास्तों के बारे में बताएगा, जिन पर यातायात नहीं होता है।

हर्ष शर्मा एवं श्रेय अरोड़ा अच्छे मित्र हैं और साथ में ही पढ़ाई करते हैं। हर्ष के अनुसार जीपीएस केवल छोटे-छोटे रास्ते और ट्रैफिक बताता है, लेकिन स्मार्ट ट्रैफिक एंगेजमेंट आफ इमरजेंसी व्हीकल्स सेंसर के जरिए चारों तरफ की जाम की स्थिति बताने में सहायक है और उस रास्ते के बारे में बताता है, जहां जाम नहीं लगा हुआ है। इसके अलावा जाम में एंबुलेंस फंसी हुई है, तो यह सेंसर जाम से निकलने के रास्ता भी बताएगा।

हर्ष की गाइड और मेंटर रश्मि चावला ने बताया कि इस सिस्टम को ना सिर्फ एंबुलेंस, बल्कि वीवीआइपी की गाड़ियों एवं अन्य आश्यक वाहनों में भी लगाया जा सकता है। इसे पेटेंट कराया जा रहा है और नेशनल रिसर्च डेवलपमेंट पेटेंट के पहले चरण में पास कर दिया है और दूसरे चरण में पास होने के साथ ही मार्केट उपलब्ध कराया जाएगा।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More