Pehchan Faridabad
Know Your City

जानिए क्यों मनाया जाता राष्ट्र डेंगू दिवस ओर क्यों इसकी गंभीरता को समझना अति आवश्यक है।

भारत में प्रत्येक वर्ष 16 मई के दिन केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा डेंगू के बारे में समाज में जागरूकता पैदा करने के लिए राष्ट्र डेंगू दिवस मनाया जाता है। डेंगू बुखार की शुरुआत अचानक तेज बुखार के साथ होती है, इसके बाद तेज सिरदर्द, आंखों के पीछे दर्द, मांसपेशियों और जोड़ों में दर्द और दाने हो जाते हैं।

हालांकि डेंगू के लिए कोई विशिष्ट एंटीवायरल दवाएं नहीं हैं, लेकिन चिकित्सक द्वारा प्रारंभिक नैदानिक ​​निदान इस बीमारी से मृत्यु दर को नीचे रखता है। मुख्यत पेरासिटामोल के साथ एनाल्जेसिक (दर्द निवारक) का उपयोग इस बीमारी से निजात पाने के लिए किया जाता है। इस बुखार से संक्रमित रोगी को बहुत सारे तरल पदार्थ पीने के लिए हिदायत दी जाती है एवं रोगी के लिए आराम करना अति महत्वपूर्ण होता है।

डेंगू से जुड़े कुछ अहम तथ्य :-

  • डेंगू का संक्रमण एडीज एजिप्टी मच्छर के काटने से होता है जो चार डेंगू वायरस में से किसी एक से संक्रमित होता है।
  • व्यक्ति में संक्रामक मच्छर के काटने के 3-14 दिन बाद शरीर में डेंगू के लक्षण विकसित होते हैं।
  • जो मरीज पहले से ही डेंगू वायरस से संक्रमित हैं, वे लक्षणों की शुरुआत के 4-5 दिनों के दौरान एडीज मच्छरों के माध्यम से अन्य को संक्रमण पहुंचा सकते हैं।

डेंगू से बचाव एवं उसे नियंत्रण करने के उपाय :-

  • कूलर और अन्य प्लास्टिक के कंटेनर, बाल्टी, इस्तेमाल किए गए ऑटोमोबाइल टायर, वॉटर कूलर, पालतू पानी वाले कंटेनर और फूलों के फूलदान इत्यादि में पानी जमा नहीं होने देना चाहिए।
  • उपयुक्त लार्विसाइड्स का उपयोग जल भंडारण कंटेनरों के लिए किया जाना चाहिए जिन्हें खाली नहीं किया जा सकता है।
  • पानी के भंडारण कंटेनरों को ढक्कन के साथ कवर किया जाना चाहिए।
  • मच्छरों के काटने को रोकने के लिए दिन के समय में एरोसोल का उपयोग किया जा सकता है।
  • ट्रांसमिशन सीजन यानी बरसात के मौसम के दौरान, सभी व्यक्ति ऐसे कपड़े पहन सकते हैं जो हाथ और पैर को कवर करते हैं।
  • सोते समय उपयोग किया जा सकता है मच्छरदानी या मच्छर भगाने के लिए हिट इत्यादि के प्रयोग किया जा सकता है।
  • व्यक्तिगत सुरक्षा उपाय जैसे कि विंडो स्क्रीन, कीटनाशक उपचारित बेडनेट, कॉइल और वेपोराइज़र का उपयोग मच्छरों के काटने से बचाव के लिए किया जा सकता है।
  • डेंगू के मरीज को मच्छर के काटने से रोका जाना चाहिए, इससे अन्य व्यक्तियों को डेंगू के प्रसार को रोका जा सकेगा।

डेंगू का संक्रमण देश में प्रचलित है जिस कारण भारत सरकार के स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने डेंगू के मामलों की सूचना को आवश्यक बना दिया है। सभी सरकारी स्वास्थ्य संस्थानों और निजी अस्पतालों और क्लीनिकों को अपने जिले के जिला स्वास्थ्य प्राधिकरण के कार्यालय को सूचित करना आवश्यक है कि उनके स्वास्थ्य संस्थान में प्रति सप्ताह या प्रतिदिन इस संक्रमण से ग्रसित कितने मरीज आ रहे है।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More