HomeEducationहरियाणा में निजी स्कूलों की मनमानी पर शिक्षा विभाग ने लगाई लगाम,...

हरियाणा में निजी स्कूलों की मनमानी पर शिक्षा विभाग ने लगाई लगाम, फीस और किताबो के लिए आदेश

Published on

अभिभावकों के साथ निजी स्कूलों की मनमानी पर शिकंजा कसने के लिए एवं शिक्षा विभाग में आदेश जारी किए हैं नए सत्र के दौरान विभागों के साथ निजी स्कूल की तरफ से हो रही वर्क बुक के नाम पर खेले जाने वाले खेल को अब शिक्षा विभाग में बंद कर दिया है शिक्षा विभाग ने पुस्तकों के वर्क को लेकर एक पत्र जारी किया है

इस पत्र के अनुसार अब अभिभावकों को स्कूल अपने अनुसार किसी भी पुस्तक विक्रेता से पुस्तक खरीदने के लिए बाध्य नहीं कर सकता पिछले कई दिनों से स्कूलों की तरफ से पुस्तकों और वर्क बुक के नाम पर अभिभावकों से दुगनी से रकम वसूली जा रही है इस स्थिति में अभिभावक काफी परेशान हो रहे थे क्योंकि वर्क बुक के नाम पर अभिभावकों से भारी-भरकम राशि वसूली जा रही थी।

हरियाणा में निजी स्कूलों की मनमानी पर शिक्षा विभाग ने लगाई लगाम, फीस और किताबो के लिए आदेश

निजी स्कूलों में दाखिले के लिए रजिस्ट्रेशन के लिए महंगे आवेदन फार्म, दाखिला टेस्ट फीस और फिर दाखिला फीस के बाद खास दुकानों से सामग्री खरीदारी का अभिभावकों को दबाव बनाया जाता है। करनाल शहर में स्कूल के बाहर फ्लैक्स बोर्ड लगाकर संबंधित स्कूलों की किताबों की बिक्री हो रही है। विशेष है कि यह फ्लैक्स बोर्ड कपड़े बेचने वाले दुकानदार भी लगाकर मोटा कारोबार कर रहे हैं।

हरियाणा में निजी स्कूलों की मनमानी पर शिक्षा विभाग ने लगाई लगाम, फीस और किताबो के लिए आदेश

इस स्थिति में अभिभावक काफी परेशान हो रहे थे इसी संदर्भ में हरियाणा शिक्षा विभाग की ओर से वह पत्र जारी किया गया है इस आदेश के अनुसार सभी मान्यता प्राप्त निजी विद्यालयों को निर्देश दिया गया है कि कोई भी विद्यालय हरियाणा विद्यालय संशोधन 2021 के पेरा 3 के अनुसार अपने विद्यालय में अध्ययनरत

हरियाणा में निजी स्कूलों की मनमानी पर शिक्षा विभाग ने लगाई लगाम, फीस और किताबो के लिए आदेश

विद्यार्थियों को विद्यालय द्वारा अनुशंसित दुकानों से पुस्तकें कार्य पुस्तक आएं लेखन सामग्री जूते मौजे वर्दी इत्यादि खरीदने के लिए वादे नहीं कर सकते यदि किसी भी निजी विद्यालय ने इस आदेश के उल्लंघन की तो उसके विरुद्ध हरियाणा विद्यालय शिक्षा नियमावली 2003 के अनुसार कार्यवाही की जाएगी

हरियाणा में निजी स्कूलों की मनमानी पर शिक्षा विभाग ने लगाई लगाम, फीस और किताबो के लिए आदेश

खास बात यह है कि बड़ी संख्या में प्राइवेट स्कूल पहले ही फीस में बढ़ोतरी कर चुके हैं। वहीं अभिभावकों द्वारा उन्हीं दुकानों से स्कूल यूनिफार्म और कापी-किताबें भी खरीदी जा चुकी हैं। एक और रोचक पहलू यह है कि अधिकांश जिलों में कापी-किताबों और यूनिफार्म के लिए पहले से ही दुकानें तय हैं। इन दुकानों से अलग अन्य कहीं यूनिफार्म भी कम ही मिलती है।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...