HomeFaridabadफरीदाबाद नगर निगम की आर्थिक हालात है खस्ता, सरकारी भवनों पर है...

फरीदाबाद नगर निगम की आर्थिक हालात है खस्ता, सरकारी भवनों पर है करोड़ो बकाया

Published on

अपनी आर्थिक स्थिति से जूझता हुआ नगर निगम कैसे फरीदाबाद के विकास को आगे बढ़ाएगा यह सबसे बड़ा सवाल खड़ा होता है फरीदाबाद नगर निगम की स्थिति उतनी अच्छी नहीं है जिसका सीधा असर फरीदाबाद के विकास कार्यों पर पड़ रहा है जबकि नगर निगम का करोड़ों रुपए सरकारी विभाग व अन्य विभागों के पास बकाया है

यदि खाली सरकारी भवनों की बात की जाए तो उन पर भी नगर निगम का 63 करोड़ संपत्ति कर बकाया है हालांकि नगर निगम अभी पूरी तरीके से अपने बकाया कर को वसूलने में लगा हुआ है नगर निगम है पिछले साल बड़े पैमाने पर संपत्ति कर वसूल किया था जो तकरीबन 250 करोड रुपए था इस कार को वसूल करने के लिए बड़े बकायेदारों की संपत्ति को भी सील किया गया था

फरीदाबाद नगर निगम की आर्थिक हालात है खस्ता, सरकारी भवनों पर है करोड़ो बकाया

करीब 950 ऐसी संपत्ति आती जिन पर कार्यवाही करके करके करोड़ों रुपए वसूले गए थे 1 जनवरी से लेकर मार्च तक सरकार ने लोगों को कर माफ करने की भी घोषणा की थी इस घोषणा के बाद लोगों ने इस बात का फायदा उठाया लेकिन नगर निगम फिर भी अपने लक्ष्य के अनुसार कर वसूल नहीं कर पाया

साल 2007 के सर्वे में पता चला कि 2.86 लाख निगम क्षेत्र में संपति है इसी सिलसिले में नगर निगम आयुक्त यशपाल यादव ने अधिकारियों के साथ बैठक की । इस बैठक में हाउस टैक्स विकास शुल्क लीज रेंट पानी सीवर चार्जेस लैंड रेट चार्जेस के ऊपर बात की गई यशपाल यादव ने कहा है कि लोगों के द्वारा संपत्ति करना चुकाए जाने पर विकास कार्य करना मुस्किल हो गया है

फरीदाबाद नगर निगम की आर्थिक हालात है खस्ता, सरकारी भवनों पर है करोड़ो बकाया

निगम आयुक्त ने आदेश दिए हैं कि की 2021 और 22 में संपत्ति कर कम जमा किए गए हैं इसके लिए कौन-कौन से अधिकारी जिम्मेदार हैं और कौन-कौन से कर अन्य बकाया रह गए हैं इसको लेकर एक रिपोर्ट मांगी है ताकि उसी के अनुसार आगे के कदम उठाए जाएंगे

फरीदाबाद नगर निगम की आर्थिक हालात है खस्ता, सरकारी भवनों पर है करोड़ो बकाया

जानकारी के अनुसार पता चलता है कि सरकारी भवनों पर ही 63 करोड़ रुपए की संपत्ति कर बकाया है जिसमें बल्लभगढ़ और फरीदाबाद के सरकारी भवन शामिल है उसके साथ सरकारी सस्थान के भी भवन शामिल है इसमें 20 करोड़ से ज्यादा लालडोरा के प्रॉपर्टी शामिल है जबकि 10 करोड़ पर विवाद चल रहा है

फरीदाबाद नगर निगम की आर्थिक हालात है खस्ता, सरकारी भवनों पर है करोड़ो बकाया

सरकारी संस्थानों और भावनाओं के साथ 130 करोड़ रुपए आम लोगों से लेने वाली है नगर निगम फिलहाल 2022 और 23 के टैक्स वसूल करने पर जोर दे रहा है वही निगम का फरमान है कि यदि टैक्स समय पर जमा नहीं कराया गया तो ऐसे लोगों की संपत्ति भी सील की जा सकती है

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...