HomeFaridabadफ़रीदाबाद में अब सीवर की गंदगी से मिलेगा छुटकारा, 80 करोड़ की...

फ़रीदाबाद में अब सीवर की गंदगी से मिलेगा छुटकारा, 80 करोड़ की लागत से बनाए जाएंगे शोधन संयंत्र

Published on




फरीदाबाद शहर में सबसे ज्यादा लोगो को सीवर की समस्या से जूझना पड़ता है। ऐसे में फरीदाबाद में जगह-जगह सीवर जाम है। जहां पर लोग सीवर की गंदगी से काफी परेशान हो जाते हैं।सीवर की गंदगी से आसपास रह रहे लोगों को बदबू, गंदे पानी से जूझना पड़ता है और लोगों को काफी समस्या उठानी पड़ती है लेकिन आप सीवर की समस्या से परेशान लोगों के लिए बड़ी राहत भरी खबर सामने आई है।स्मार्ट सिटी लिमिटेड द्वारा फरीदाबाद में शिवर शोधन संयंत्र बनाए जाएंगे।


स्मार्ट सिटी में सीवर जाम की समस्या से काफी परेशानियां उठानी पड़ती है। जिससे लोगों को आने जाने में भी काफी दिक्कतें होती है।स्मार्ट सिटी लिमिटेड और नगर निगम मिलकर शहर में 11 सीवर शोधन संयंत्र बनाने जा रही है।इनमें तीन माइक्रो कंटेनमेंट शोधन संयंत्र शामिल होंगे इसके लिए टेंडर भी जारी कर दिए गए हैं।इस योजना में करीब 80 करोड़ लागत लगाई जाएगी।

फ़रीदाबाद में अब सीवर की गंदगी से मिलेगा छुटकारा, 80 करोड़ की लागत से बनाए जाएंगे शोधन संयंत्र


सीवर ओवरफ्लो की फरीदाबाद में बड़ी समस्या है।कई क्षेत्र के लोगों को आए दिन सीवर की समस्या से जूझना पड़ता है। जैसे कि जवाहर कॉलोनी,पर्वतीय कॉलोनी, सारन, डबुआ कॉलोनी आदि इन जैसे क्षेत्रों को लगातार सीवर की समस्या से जूझना पड़ता है और कई बार तो सीवर ओवरफ्लो के चलते नगर निगम मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन भी कर चुके हैं।वहीं शहर के बाहर तीन सीवर शोधन संयंत्र लगे हुए हैं फिर भी इन तीनों की पानी को शुद्ध करने की क्षमता कम है।

फ़रीदाबाद में अब सीवर की गंदगी से मिलेगा छुटकारा, 80 करोड़ की लागत से बनाए जाएंगे शोधन संयंत्र


तीनों संयंत्र में रोजाना शहर का 150 एमएलडी से ज्यादा सीवर का पानी भेजा जाता है, जबकि शहर में रोजाना करीब 200 एमएलडी सीवर का पानी उत्पन्न होने के कारण पानी भी पूर्ण रूप से शुद्ध नहीं हो पाता है। जिससे अलग-अलग क्षेत्रों में सीवर ओवरफ्लो की समस्या बढ़ती जा रही है।

फ़रीदाबाद में अब सीवर की गंदगी से मिलेगा छुटकारा, 80 करोड़ की लागत से बनाए जाएंगे शोधन संयंत्र


इसे देखते हुए स्मार्ट सिटी ने शहर में सीवर शोधन संयंत्र लगाने की तैयारी की है। सभी संयंत्र को फरीदाबाद स्मार्ट सिटी लिमिटेड अपने बजट से बनाएगा और फिर उसे नगर निगम को सीवर शोधन संयंत्र के पानी का इस्तेमाल छिड़काव के लिए किया जाएगा। इससे लगाने की योजना पर काम शुरू कर दिया है। पार्कों के रखरखाव, कंस्ट्रक्शन साइटों व सड़कों पर छिड़काव और ग्रीन बेल्ट में छिड़काव के लिए किया जाएगा ।इससे पीने वाले पानी की भी बचत होगी।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...