Online se Dil tak

24 घंटे बिजली सप्लाई का वादा करके भी फरीदाबाद में हो रही 7-8 घंटे की कटौती

फरीदाबाद: जून के महीने में जनता जहां इन दिनों गर्मी के प्रकोप से परेशान है, वहीं दूसरी तरफ बिजली की कटौती से ‌भी‌ परेशान हैं। शहर के अलग-अलग इलाकों में प्रतिदिन कई-कई घंटों के कट लग रहे हैं, जिससे लोगों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।

गुरुवार को भी नंगला एन्क्लेव, ओल्ड फरीदाबाद में 7 से 8 घंटे के बिजली कट लग रहे हैं। जिसके कारण लोगों को गर्मी के साथ बहुत सी परेशानी का सामना करना पड़ा।

24 घंटे बिजली सप्लाई का वादा करके भी फरीदाबाद में हो रही 7-8 घंटे की कटौती
24 घंटे बिजली सप्लाई का वादा करके भी फरीदाबाद में हो रही 7-8 घंटे की कटौती

लोगों ने बताया कि बिजली न होने से काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है, इन्वर्टर से सिर्फ 4 से 5 घंटे काम किया जा सकता है। लोगो का कहना हैं कि वो समय पर बिजली का बिल भी भरते हैं। जब भी उनको बिजली कटौती की समस्या का सामना करना पड़ रहा है।

24 घंटे बिजली सप्लाई का वादा करके भी फरीदाबाद में हो रही 7-8 घंटे की कटौती
24 घंटे बिजली सप्लाई का वादा करके भी फरीदाबाद में हो रही 7-8 घंटे की कटौती

लोगो का कहना हैं कि,कटौती की शिकायत के बाद भी कार्रवाई नहीं हो रही है। वही अधिकारियों का कहना है कि तय क्षमता से ज्यादा बिजली दी जा रही है।

ये है बिजली कटौती की असली वजह

पिछले वर्ष की तुलना करें तो इस वर्ष पूरे देश में बिजली की 30% तक मांग बढ़ी है।क्योंकि इस वर्ष गर्मी मार्च के महीने में ही रिकॉर्ड तोड चुकी थी। और अब जून के महीने मे भी गर्मी लोगो को सता रही।

जिससे बिजली की मांग बढ़ गई है। गर्मी के कहर से बचने के लिए बिजली की मांग उच्चतम स्तर पर पहुंच गई है।देश में 62.3 करोड़ यूनिट बिजली की कमी पहुंच गई है।देश में 70 प्रतिशत बिजली का उत्पादन कोयले से होता है।

24 घंटे बिजली सप्लाई का वादा करके भी फरीदाबाद में हो रही 7-8 घंटे की कटौती
24 घंटे बिजली सप्लाई का वादा करके भी फरीदाबाद में हो रही 7-8 घंटे की कटौती

पिछले साल बिजली संकट का प्राथमिक कारण दक्षिण-पश्चिम मानसून की शुरुआत से पहले पर्याप्त कोयले का स्टॉक करने के लिए बिजली संयंत्र संचालकों की निष्क्रियता थी।

लेकिन मौजूदा हालात को देखते हुए सरकार ने कोयला खनन कंपनी कोल इंडिया से कोयला आयात करने को कहा है।

Read More

Recent