HomeFaridabadविश्व पर्यावरण दिवस पर अरुणाभा वेल्फेयर सोसायटी ने फरीदाबाद, दिल्ली समेत इन...

विश्व पर्यावरण दिवस पर अरुणाभा वेल्फेयर सोसायटी ने फरीदाबाद, दिल्ली समेत इन इलाकों में लगाए करीब 500 वृक्ष

Published on

अरुणाभा वेलफेयर सोसाइटी (Arunabha Welfare Society, Faridabad) द्वारा आज 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस (World Environment Day) के अवसर पर वृक्षारोपण का आयोजन किया गया। फरीदाबाद , दिल्ली और इसके आसपास के क्षेत्रों में करीब 500 वृक्षों का रोपण (Plantation) किया गया और साथ ही उसके सुरक्षा की व्यवस्था की गई।

संस्था की अध्यक्षा प्रणीता प्रभात ने बताया कि संस्था ने 5 जून से 5 जुलाई तक वन महोत्सव माह का आयोजन किया है। जिसमें दिल्ली एनसीआर के विभिन्न क्षेत्रों में 1001 पौधा लगाने का निर्णय लिया गया है।

विश्व पर्यावरण दिवस पर अरुणाभा वेल्फेयर सोसायटी ने फरीदाबाद, दिल्ली समेत इन इलाकों में लगाए करीब 500 वृक्ष

उन्होंने कहा कि मौजूदा हालात को देखते हुए सभी लोगों को वृक्ष लगाना चाहिए और उसका संरक्षण करना चाहिए।

विश्व पर्यावरण दिवस पर अरुणाभा वेल्फेयर सोसायटी ने फरीदाबाद, दिल्ली समेत इन इलाकों में लगाए करीब 500 वृक्ष

ताकि हमारे बच्चों का भविष्य सुरक्षित हो सके और भविष्य में उन्हें प्राणवायु ऑक्सीजन की कमी ना हो।

विश्व पर्यावरण दिवस पर अरुणाभा वेल्फेयर सोसायटी ने फरीदाबाद, दिल्ली समेत इन इलाकों में लगाए करीब 500 वृक्ष

इस अवसर पर जयवर्धन प्रताप सिंह, रेशमी गोपी, ममता मित्तल, राजश्री, शुभ्रा मिश्रा, मोनिका, सौम्या चावला, मुस्कान गौतम, याशना आदि लोग मौजूद रहे।

विश्व पर्यावरण दिवस पर अरुणाभा वेल्फेयर सोसायटी ने फरीदाबाद, दिल्ली समेत इन इलाकों में लगाए करीब 500 वृक्ष

संस्था की ओर से नीम, पीपल, बरगद जैसे पेड़ों को लगाने का आवाहन किया गया।

Latest articles

हरियाणा के बसई गांव से पहली महिला आईएएस बनी ममता यादव

यूपीएससी क्लियर करना बहुत बड़ी उपलब्धि की श्रेणी में आता है और जब कोई...

हरियाणा के रोल मॉडल बने ये दादा पोती की जोड़ी टीचर दादाजी के सहयोग से 23 साल में ही बनी आईएएस

हमने हमेशा से सुना की एक आदमी के सफलता के पीछे हमेशा एक औरत...

अक्षिता गुप्ता आईएएस बनने से पहले डॉक्टर बनना चाहती थी फिर कुछ ऐसा हुआ की क्लियर कर लिया यूपीएससी

यूपीएससी परीक्षा भारत की सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है जिसने हर साल लाखों...

ग्रेटर फरीदाबाद में कछुये की रफ़्तार से हो रहा है कार्य, कई महीनों से बंद हैं आस-पास के रास्ते

फरीदाबाद में बाईपास रोड पर दिल्ली-मुंबई-वडोदरा-एक्सप्रेसवे के लिंक रोड पर बीपीटीपी एलिवेटेड पुल का...

More like this

हरियाणा के बसई गांव से पहली महिला आईएएस बनी ममता यादव

यूपीएससी क्लियर करना बहुत बड़ी उपलब्धि की श्रेणी में आता है और जब कोई...

हरियाणा के रोल मॉडल बने ये दादा पोती की जोड़ी टीचर दादाजी के सहयोग से 23 साल में ही बनी आईएएस

हमने हमेशा से सुना की एक आदमी के सफलता के पीछे हमेशा एक औरत...

अक्षिता गुप्ता आईएएस बनने से पहले डॉक्टर बनना चाहती थी फिर कुछ ऐसा हुआ की क्लियर कर लिया यूपीएससी

यूपीएससी परीक्षा भारत की सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है जिसने हर साल लाखों...