Online se Dil tak

पेंशन का हो रहा बड़ा घोटाला , जिंदा आदमी को मृतक बना के रोकी जा रही पेंशन।

स्मार्ट तो काफी होती जा रही है सिटी । नए नए घोटालों में खूब नाम कमा रहा है फरीदाबाद ।बता दें कि जिले में एक लाख 40 हजार 425 पेंशन धारक विभिन्न प्रकार की नौ पेंशन ले रहे है। इनमें बुढ़ापा पेंशन लेने वाले 86 हजार 802 बुजुर्ग है। इनमें कुछ की पेंशन परिवार पहचान पत्र सहित अन्य दस्तावेज लिंक नहीं थे। जिसके लिए एडीसी कार्यालय ने उन बुजुर्गों का डाटा वेरिफिकेशन करने के लिए सक्षम को जिम्मेदारी सौंपी।

वेरिफिकेशन के दौरान जिन घरों में सक्षम युवाओं को बुजुर्ग नहीं मिले तो उन्हें वेरिफिकेशन बुक में अनसीन लिखना था। लेकिन सक्षम युवाओं ने अनसीन के स्थान पर डेड लिख दिया। जिससे विभाग ने ऐसे बुजुर्गों की पेंशन काट दी। अब वे बुजुर्ग विभाग में आकर अपनी जीवत होने का प्रमाण देकर पेंशन बहाल करने की गुहार लगा रहे है।

पेंशन का हो रहा बड़ा घोटाला , जिंदा आदमी को मृतक बना के रोकी जा रही पेंशन।
पेंशन का हो रहा बड़ा घोटाला , जिंदा आदमी को मृतक बना के रोकी जा रही पेंशन।

सब-तहसील इस्माईलाबाद से गांव ठसका मीरा जी निवासी पर्सन कौर ने बताया कि उसकी करीब जनवरी माह की पेंशन आई थी। उसके बाद उसे पेंशन नहीं मिली।

विभाग ने उसे मृत घोषित कर उसकी पेंशन रोक दी है। अब वह शुरू करवाने के लिए कार्यालय में आकर पत्र दिया है।

पेंशन का हो रहा बड़ा घोटाला , जिंदा आदमी को मृतक बना के रोकी जा रही पेंशन।
पेंशन का हो रहा बड़ा घोटाला , जिंदा आदमी को मृतक बना के रोकी जा रही पेंशन।

जिला समाज कल्याण विभाग कार्यालय में 120 से अधिक बुजुर्गों ने प्रार्थना पत्र देकर अपनी जीवत होने का प्रमाण पत्र दिया है।

जिन्हें विभाग ने उच्चाधिकारियों को आनलाइन अपडेट करा दिया है। जिससे जल्द ही दोनों बुजुर्गों की पेंशन शुरू हो जाएगी। वहीं जिन बुजुर्गों की पेंशन किसी कारणवश रुक गई है। वे विभाग में पत्र देकर अपनी पेंशन शुरू करवा सकते है।

Read More

Recent