Online se Dil tak

फरीदाबाद में पेट्रोल और डीज़ल की हो रही है कमी, पेट्रोल पंप दिखाई दे रहे हैं सूने


फरीदाबाद जैसे जिले में पेट्रोल और डीज़ल की कमी होने लगी है, जिस औद्योगिकक्षेत्र में पेट्रोल और डीज़ल की सबसे ज़्यादा ज़रूरत है आज वहीं इसकी कमी देखने को मिली । फरीदाबाद में बुधवार को शहर के कई पेट्रोल पंप पेट्रोल-डीजल के ना होने से बंद करने पड़े। सबसे ज्यादा दिक्कत बीपीसीएल और एचपीसीएल के पेट्रोल पंपों पर रही।

पेट्रोल न होने की वजह से वाहन चालकों को वापस लौटा दिया गया। इससे उन्हें काफी दिक्कत हुई। पेट्रोल पंप संचालकों ने कहा कि यदि समस्या का जल्द समाधान नहीं हुआ तो स्थिति और बिगड़ेगी। इस समस्या को लेकर ऑल हरियाणा पेट्रोलियम डीलर्स एसोसिएशन ने प्रधानमंत्री और पेट्रोलियम मंत्री को ट्विट भी किया है।

फरीदाबाद में पेट्रोल और डीज़ल की हो रही है कमी, पेट्रोल पंप दिखाई दे रहे हैं सूने
फरीदाबाद में पेट्रोल और डीज़ल की हो रही है कमी, पेट्रोल पंप दिखाई दे रहे हैं सूने

फरीदाबाद में रोजाना करीब सात लाख लीटर डीजल और चार लाख लीटर पेट्रोल की खपत होती है। पिछले दो-तीन दिनों से पेट्रोल और डीजल की कमी की वजह से बहुत समस्या हो रही है। पेट्रोल पंप संचालकों ने बताया , तेल आपूर्ति में 50 फीसदी की कमी दर्ज की गई हैं।

बुधवार को बाटा चौक, नीलम चौक, अजरौंदा मेट्रो स्टेशन, बड़खल चौक आदि पेट्रोल पंप बंद दिखाई दिए तो कुछ पर केवल दो पहिया और चार पहिया वाहनों को पेट्रोल डीजल दिया जा रहा था। भारी वाहनों को पेट्रोल नही दिया जा रहा था।

फरीदाबाद में पेट्रोल और डीज़ल की हो रही है कमी, पेट्रोल पंप दिखाई दे रहे हैं सूने
फरीदाबाद में पेट्रोल और डीज़ल की हो रही है कमी, पेट्रोल पंप दिखाई दे रहे हैं सूने

पेट्रोल पंप संचालकों ने बताया कि 21 मई को केंद्र सरकार ने लोगों को राहत देने के लिए पेट्रोल डीजल पर एक्साइज ड्यूटी घटा दी थी, इससे तेल के बढ़ते दामों की रफ्तार थम गई थी और लोगों को बहुत राहत मिली थी।

फरीदाबाद में पेट्रोल और डीज़ल की हो रही है कमी, पेट्रोल पंप दिखाई दे रहे हैं सूने
फरीदाबाद में पेट्रोल और डीज़ल की हो रही है कमी, पेट्रोल पंप दिखाई दे रहे हैं सूने

इसके बाद कंपनियों को पेट्रोल, डीजल की आपूर्ति करने में घाटा हो रहा है। इस वजह से पर्याप्त आपूर्ति नहीं आ रही है। आशा की जा रही है की जल्द ही पेट्रोल-डीजल की आपूर्ति ठीक हो जायेगी।

Read More

Recent