Online se Dil tak

फरीदाबाद में औद्योगिक सेक्टरों के सड़कों की ख़स्ता हालत, आय दिन होती हैं दुर्घटनाएं

फरीदाबाद में बारिश के बाद कई इलाकों की हालत बद से बदतर देखी जाती है। यह हाल में फरीदाबाद के ग्रामीण इलाकों का ही नहीं बल्कि यहां के औद्योगिक क्षेत्रों में भी देखने को मिल रहा है। बता दें हाल ही में हुए बरसात से औद्योगिक सेक्टर 24 के सड़कों पर कीचड़ के अलावा और कुछ नहीं दिखाई दे रहा।

आए दिन कोई ना कोई बड़े हादसे देखने को मिलते हैं। आपको बता दें कि औद्योगिक सेक्टरों में मूलभूत सुविधाएं मुहैया कराने के लिए बड़े-बड़े जनप्रतिनिधियों ने आश्वासन दिया था।

फरीदाबाद में औद्योगिक सेक्टरों के सड़कों की ख़स्ता हालत, आय दिन होती हैं दुर्घटनाएं
फरीदाबाद में औद्योगिक सेक्टरों के सड़कों की ख़स्ता हालत, आय दिन होती हैं दुर्घटनाएं

इसके अलावा यहां के कुछ अधिकारियों व नेताओं ने इस सड़क का शुभारंभ करने के लिए नारियल फोड़कर विकास का कार्य शुरू करवाया था। यह कार्य बरसात से पहले समाप्त हो जाना था परंतु समाप्त न हो सका मॉनसून शुरू होने की वजह से यहां इस सड़क की दशा और भी ज्यादा खराब दिखाई दे रही है।

सड़कों पर कीचड़ दिखाई दे रहा है आपको बता दें यह एक औद्योगिक क्षेत्र है जिसमें हजारों लोगों का आना जाना होता है। आए दिन कोई ना कोई इस कीचड़ भरी सड़क में गिरता रहता है जिसकी वजह से लोगों का समय बर्बाद होता है ।

फरीदाबाद में औद्योगिक सेक्टरों के सड़कों की ख़स्ता हालत, आय दिन होती हैं दुर्घटनाएं
फरीदाबाद में औद्योगिक सेक्टरों के सड़कों की ख़स्ता हालत, आय दिन होती हैं दुर्घटनाएं

इसके साथ साथ लोगों के कपड़े भी खराब हो जाते हैं। हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण द्वारा इन सेक्टरों में विकास कार्य कराए जा रहे हैं लेकिन अब इसके बारे में अधिकारियों ने बोलना बंद कर दिया है।

आपको बता दें कि फरीदाबाद के सेक्टर 24 25 32 डीएलएफ एनआईटी क्षेत्र में मूलभूत सुविधाएं जैसे सड़क सीवर पानी में बरसात के निकासी की लाइन को ठीक करने के लिए कार्य शुरू कर दिया गया है।

फरीदाबाद में औद्योगिक सेक्टरों के सड़कों की ख़स्ता हालत, आय दिन होती हैं दुर्घटनाएं
फरीदाबाद में औद्योगिक सेक्टरों के सड़कों की ख़स्ता हालत, आय दिन होती हैं दुर्घटनाएं

इन मूलभूत सुविधाओं को अपग्रेड कर आने के लिए लगभग 109 करोड रुपए का बजट बनाया गया है। इस बजट को उद्योग विभाग द्वारा मुहैया कराने के बाद वित्त विभाग के पास पैसा जाएगा जिसके बाद यहां से हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण के पास यह पैसे आएंगे। बताया जा रहा है की बजट तो तय हो चुका है लेकिन यहां पर काम करने के लिए ठेकेदारों तक पैसे नहीं पहुंच सके हैं जिसके कारण यह कार्य बंद पड़ा है।

Read More

Recent