Online se Dil tak

इन समस्यायों ने लोगों का जीना कर दिया है मुश्किल, फरीदाबाद में प्रशासन की दिखी नाकाम

फरीदाबाद में लोग पहले ही यहाँ की बदहाल स्थिति से परेशान हैं ऊपर से यहाँ पर हो रही लगातार बिजली कटौती के चलते लोगों का बुरा हाल देखने को मिलता है।

इन समस्यायों ने लोगों का जीना कर दिया है मुश्किल, फरीदाबाद में प्रशासन की दिखी नाकाम
इन समस्यायों ने लोगों का जीना कर दिया है मुश्किल, फरीदाबाद में प्रशासन की दिखी नाकाम

जहाँ लोगों को बारिश का इंतजार रहता है ताकि गर्मी से निजात मिल सके, लेकिन बारिश होते ही लोग दुखी हो जाते हैं। दरअसल यहाँ की सड़कों में गड्ढे और कच्ची गलियों के चलते बारिश के बाद बुरा हाल हो जाता है। जिससे लोग बेहद परेशान नजर आते हैं।

आपको बता दें की फरीदाबाद के रिहायशी इलाकों में भी ये समस्या अब आम बन चुकीं हैं। लगातार हो रही बारिश से पूरा क्षेत्र जलमग्न हो जाता है।

इन समस्यायों ने लोगों का जीना कर दिया है मुश्किल, फरीदाबाद में प्रशासन की दिखी नाकाम

आपको बता दें सेक्टर-15, 16, 21, और एनआईटी क्षेत्रों में ये जलभराव देखने को मिलते है । इसके अलावा यदि हम बात करें बिजली की तो, बिजली की समस्या ने तो पहले के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिये बिजली कटौती में।

प्रशासन लगातार ये दावे कर रहा है की बिजली की समस्या को सुलझा दिया गया कहीं भी अब बिजली कटौती नहीं देखी जायेगी। जगह-जगह नये खम्बे लगा दिये गए हैं । ट्रांसफार्मर भी लगा दिये गए हैं ।

इन समस्यायों ने लोगों का जीना कर दिया है मुश्किल, फरीदाबाद में प्रशासन की दिखी नाकाम

प्रशासन के ये सारे दावे चित होते दिखाई दे रहे हैं। लोगों को अभी भी इन मूलभूत सुविधाओं के लिए परेशान होना पड़ रहा है। लेकिन प्रशासन द्वारा इन समस्यायों का हल नहीं किया जा रहा है।

शहर में बारिश की शुरुआत होते ही लोगों की परेशानियां भी बढ़ गई हैं। एक तरफ लोगों को उमस से राहत मिली है वहीं बिजली कटौती तथा जलभराव से लोग परेशान हैं।

नैशनल हाइवे, शहर की अंदर की सड़कें, सेक्टर-15, 16, 21, एनआईटी पांच, एक, दो सहित कई क्षेत्रों में लोगों को जलभराव का सामना करना पड़ रहा है।

इन समस्यायों ने लोगों का जीना कर दिया है मुश्किल, फरीदाबाद में प्रशासन की दिखी नाकाम

लोगों का कहना है कि निगम अधिकारियों से जलभराव के संबंध में शिकायत भी की गई है लेकिन समाधान नहीं हो पाया। इसके अलावा बिजली संकट से भी लोग परेशान हैं।

बिजली को लेकर लोगों ने बताया बिजली से परेशानी पर शिकायत करने के लिए जब कर्मचरियों और अधिकारियों से बात करने की कोशिश की जाती है तो उनके द्वारा फोन नहीं उठाया जाता और किसी भी तरह का जवाब नहीं दिया जाता।

आपको बता दें बिजली दफ़्तर में शाम 5 बजे तक लगभग 1200 मामले देखने को मिलते हैं। लेकिन फिर भी अधिकारियों द्वारा ये बताया जाता है कि बिजली विभाग ईमानदारी से काम कर रही है। और किसी भी शिकायत पर लोगों की समस्यायों का समाधान करने का प्रयास किया जाता है।

Read More

Recent