HomeFaridabadफरीदाबाद में पुराने वाहनों की है जर्जर हालत, MCF को मिले 5...

फरीदाबाद में पुराने वाहनों की है जर्जर हालत, MCF को मिले 5 करोड़ से ज़्यादा रुपयों के सफाई वाहन

Published on

भारत में साफ सफाई के लिए स्वच्छता अभियान चलाया जा रहा है इसके चलते कई बड़े बड़े कार्यक्रम भी आयोजित किए जाते हैं। वही फरीदाबाद में स्वच्छता अभियान के लिए कार्यक्रम तो किए जाते हैं लेकिन सिर्फ तस्वीरों में आने के लिए। आपको बता दें कि फरीदाबाद में साफ सफाई ना होने के चलते शहर में कई जगहों पर गंदगी के अंबार देखने को मिलते हैं।

फरीदाबाद में पुराने वाहनों की है जर्जर हालत, MCF को मिले 5 करोड़ से ज़्यादा रुपयों के सफाई वाहन

कई जगहों पर लोग भी परेशान होकर प्रदर्शन करते हुए नजर आते हैं। आपको बता दें कि फरीदाबाद में नगर निगम को साफ सफाई के लिए वाहन भी दिए गए थे जिससे वह साफ-सफाई ठीक ढंग से कर सकें और जमा हुई गंदगी को शहर से दूर इकट्ठा कर सकें।

फरीदाबाद में पुराने वाहनों की है जर्जर हालत, MCF को मिले 5 करोड़ से ज़्यादा रुपयों के सफाई वाहन

परंतु कर्मचारियों को वाहन तो दिए गए हैं लेकिन उनकी देखभाल करने के लिए कोई भी आगे नहीं आता। आमतौर पर देखा जाता है कि जो भी वाहन गंदगी उठाते हैं वह काफी जर्जर स्थिति में मिलते हैं।

लोगों द्वारा प्रशासन को कई बार शिकायतें भी की गई है कि जो भी सफाई के लिए गाड़ियां आती हैं वह जगह जगह से टूटी हुई स्थिति में होती है जिसके कारण सफाई वाहन गंदगी को सड़कों पर गिराते हुए ले जाते हैं।

फरीदाबाद में पुराने वाहनों की है जर्जर हालत, MCF को मिले 5 करोड़ से ज़्यादा रुपयों के सफाई वाहन

आपको बता दें कि फरीदाबाद नगर निगम को 5 करोड़ ₹73 लाख रुपए के वाहन दिए गए हैं जिससे सफाई ठीक प्रकार से की जा सके ।

लेकिन इस पर भी लोगों द्वारा यह सवाल उठाए जा रहे हैं की पुरानी इतने भी वाहन हैं उनकी देखभाल ठीक ढंग से नहीं की जा सकती है तो क्या ये नए वाहनों का ध्यान रखा जाएगा ।

फरीदाबाद में पुराने वाहनों की है जर्जर हालत, MCF को मिले 5 करोड़ से ज़्यादा रुपयों के सफाई वाहन

शहर के कई जगहों पर कूड़ेदान भी रखा गया है जिससे सारा कूड़ा वहां पर रखा जा सके परंतु इनकी उड़े दानों की भी स्थिति काफी जर्जर हो चुकी है प्रिय कूड़ेदान भरने के बाद इसमें से कूड़े बाहर सड़कों पर चलते हुए नजर आते हैं।

लोगों की यह भी शिकायतें हैं कि जो भी कूड़ेदान भर जाता है उसे उठाने के लिए कर्मचारी काफी देरी से आते हैं जिससे सारा कूड़ा सड़कों पर फैल जाता है और लोग हैं परेशान रहते हैं।

Latest articles

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...

Faridabad का ये किसान थोड़ी सी समझदारी से आज कमा रहा लाखों, यहां जानें कैसे

आज के समय में देश के युवा शिक्षा, स्वास्थ आदि क्षेत्रों के साथ साथ...

More like this

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...