Online se Dil tak

फरीदाबाद के खेतों में फसलें हुई बर्बाद, सीवर ओवरफ्लो से खतों में भरा पानी

नगर निगम अधिकारियों की लापरवाही की वजह से पलवली गांव में रहने वाले किसान बेहद परेशान हैं। करीब 10 एकड़ फसल बर्बाद हो चुकी है। ये कोई नई बात नहीं है, बल्कि कई साल से ऐसा होता आ रहा है। यहां बादशाहपुर सीवर ट्रीटमेंट प्लांट में जाने वाला गंदा पानी ओवरफ्लो होकर खेतों में भर जाता है।

इससे फसल खराब हो रही हैं। नगर निगम अधिकारियों से लेकर सीएम विडो पर शिकायत दी जा चुकी है, लेकिन समाधान नहीं हुआ है। अब किसान अदालत का दरवाजा खटखटाने की मन बना रहे हैं।

फरीदाबाद के खेतों में फसलें हुई बर्बाद, सीवर ओवरफ्लो से खतों में भरा पानी
फरीदाबाद के खेतों में फसलें हुई बर्बाद, सीवर ओवरफ्लो से खतों में भरा पानी

पलवली गांव निवासी किसान नितिन ने बताया कि गांव बादशाहपुर के सीवर ट्रीटमेंट प्लांट में पानी की निकासी सही से नहीं हो पा रही है। करीब 10 एकड़ में भिडी, पालक, धनिया, घीया व तोरई की फसल नष्ट हो गई।

उन्होंने बताया कि शहर से मवई गांव, वजीरपुर, पलवली के खेतों से सीवर लाइन निकल कर गांव बादशाहपुर के सीवर ट्रीटमेंट प्लांट में जाकर मिलती है।इसके लिए जगह-जगह मैनहोल बने हुए हैं।

फरीदाबाद के खेतों में फसलें हुई बर्बाद, सीवर ओवरफ्लो से खतों में भरा पानी

जीतराम शर्मा के खेत में मैनहोल टूटे हुए हैं। इस वजह से सीवर का पानी खेतों में भर गया। ब्रह्मदत्त, शीशराम, देवी, वेदराम व चिरंजी की करीब 10 एकड़ जमीन में खड़ी फसल डूब गई। किसान वेदराम की झुग्गियों में भी पानी भर जाता है।

यहां रहने वाले परिवार के लोगों का रहना दुश्वार हो रहा है। जीतराम शर्मा के खेत में लगा ट्यूबवेल भी ठप हो गया है। नितिन ने बताया कि ट्रीटमेंट प्लांट में लाइट नहीं होती तो सीवर के पानी को खींचने के लिए जनरेटर चलाना होता है,

फरीदाबाद के खेतों में फसलें हुई बर्बाद, सीवर ओवरफ्लो से खतों में भरा पानी

ताकि पानी सीवर लाइन में ठीक प्रकार से चले, लेकिन अक्सर जनरेटर नहीं चलता। इससे सीवर लाइन में पानी उफान मारता है और मैनहोल से पानी खेतों में भर जाता है।

फरीदाबाद के खेतों में फसलें हुई बर्बाद, सीवर ओवरफ्लो से खतों में भरा पानी

शहर से बादशाहपुर सीवर ट्रीटमेंट प्लांट तक काफी पुरानी लाइन डली हुई है। यह कई जगह से लीक होती रहती है। नई लाइन डालने का काम पूरा होने वाला है। वर्षा की वजह से काम बाधित हुआ है। इसे जल्द पूरा कर लिया जाएगा।

Read More

Recent