HomeFaridabadफरीदाबाद के सरकारी स्कूलों में प्रशासन की दिखाई दे रही है बड़ी...

फरीदाबाद के सरकारी स्कूलों में प्रशासन की दिखाई दे रही है बड़ी लापरवाही, छात्रों को नहीं दिया जा रहा दूध

Published on

फरीदाबाद की सरकारी स्कूलों में छात्रों को मिड डे मील से दूध देने का कार्य बीच में ही बंद कर दिया गया है दरअसल आपको बता दें कि फरीदाबाद के राजकीय विद्यालयों में लगभग 2 महीने से छात्रों को दूध का वितरण नहीं किया जा रहा।

छात्र मेट मिड डे मील योजना की तहत दिए जाने वाले भोजन का ही सेवन कर पा रहे हैं परंतु दूर से वंचित रह जाते हैं। जिसके कारण ऐसा देखा जा रहा है कि छात्रों पर इसका मानसिक प्रभाव पड़ रहा है।

फरीदाबाद के सरकारी स्कूलों में प्रशासन की दिखाई दे रही है बड़ी लापरवाही, छात्रों को नहीं दिया जा रहा दूध

और मानसिक विकास में समस्या उत्पन्न हो रही है। जानकारी के लिए बता दें कि इस योजना के तहत प्रदेश सरकार ने 4 वर्ष पहले कक्षा पहली से आठवीं के विद्यार्थियों को मिड डे मील में दूध देने का फैसला लिया था

जानकारी छात्रों के शारीरिक विकास तथा मानसिक विकास के लिए दूध एक बहुत ही अहम रोल निभाता है। जिसे ध्यान में रखते हुए प्रशासन ने छात्रों को दूध देने का निर्णय लिया था

फरीदाबाद के सरकारी स्कूलों में प्रशासन की दिखाई दे रही है बड़ी लापरवाही, छात्रों को नहीं दिया जा रहा दूध

जानकारी के लिए बता दें कि कुछ छात्रों को दूध पसंद नहीं था जिसके कारण वे इसका सेवन नहीं करते थे उसके बाद से प्रशासन ने छात्रों के लिए फ्लेवर्ड मिल्क का प्रबंध कराया

फरीदाबाद के सरकारी स्कूलों में प्रशासन की दिखाई दे रही है बड़ी लापरवाही, छात्रों को नहीं दिया जा रहा दूध

ताकि छात्र दूध पी सके परंतु यहां पर दूध का ही वितरण बंद कर दिया गया है। जानकारी के मुताबिक दूधी ना मिलने को लेकर जिले के कई विद्यालय प्रमुखों ने मौलिक शिक्षा अधिकारी को यह शिकायत की थी

फरीदाबाद के सरकारी स्कूलों में प्रशासन की दिखाई दे रही है बड़ी लापरवाही, छात्रों को नहीं दिया जा रहा दूध

कि छात्रों को जुलाई के अंत सप्ताह से दूध नहीं मिल रहा है ।  इसके अलावा शिक्षा विभाग द्वारा भी निदेशालय के अधिकारियों से कई बार इस मुद्दे को लेकर विचार भी कर चुका है।

परंतु अभी फिलहाल मिड डे मील द्वारा दूध देने का यह सिलसिला भी बंद किया हुआ है अभी छात्रों को दूध नहीं दिया जा रहा है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...