HomeFaridabadइस वर्ष शिक्षा के क्षेत्र में होंगे यह बड़े बदलाव, फरीदाबाद...

इस वर्ष शिक्षा के क्षेत्र में होंगे यह बड़े बदलाव, फरीदाबाद शिक्षा अधिकारी ने ढांचा किया तैयार 

Published on

खट्टी-मीठी यादों के साथ खत्म हुआ साल 2022 और साल 2023 का नया सूरज नई सुबह के साथ नई उम्मीदें लेकर आया है। सुशिक्षित समाज का निर्माण भी उनमें से एक है। किसी भी विकसित शहर, जिले, राज्य की अवधारणा को सुशिक्षित समाज ही साकार कर सकता है। यदि शिक्षा का वातावरण अच्छा होगा तो अच्छे विचार भी आएंगे और यदि अच्छे विचार आएंगे तो निश्चय ही सकारात्मक सोच को ठोस रूप देकर विकास की ओर आगे बढ़ाया जा सकता है। इस दिशा में नया साल शिक्षित समाज के नजरिए से कई नई उम्मीदें लेकर आया है।

 

कई स्कूलों को दिया जाएगा नया लुक

इस वर्ष शिक्षा के क्षेत्र में होंगे यह बड़े बदलाव, फरीदाबाद शिक्षा अधिकारी ने ढांचा किया तैयार 

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस साल जिले के कई सरकारी स्कूलों को नया लुक मिलेगा। जिले में पांच से अधिक सरकारी स्कूलों के नए भवनों का निर्माण कार्य चल रहा है। इसके अलावा किराए के स्थान पर चल रहे कॉलेज को अपने भवन में शिफ्ट करने की भी संभावना है। नचौली, मोहना और बल्लभगढ़ में कॉलेजों का निर्माण पूरा हो चुका है और जल्द ही उन्हें स्थानांतरित कर दिया जाएगा। इसी तरह एनआईटी में नए आईटीआई भवन का निर्माण भी तेजी से चल रहा है, जो इसी साल पूरा हो जाएगा। इसके पूरा होते ही स्किल डेवलपमेंट के लिए कई और नए कोर्स शुरू किए जाएंगे। इससे जिले के युवाओं के लिए रोजगार के अवसर बढ़ेंगे।

 

शिक्षकों की कमी होगी पूरी

इस वर्ष शिक्षा के क्षेत्र में होंगे यह बड़े बदलाव, फरीदाबाद शिक्षा अधिकारी ने ढांचा किया तैयार 

पिछले साल शिक्षकों का तबादला अभियान शिक्षा विभाग के अधिकारियों के लिए परेशानी का सबब बना था, जिसके चलते जिले के कई स्कूलों में शिक्षकों की कमी हो गई थी। इससे आक्रोशित अभिभावक व छात्र सड़कों पर उतर आए और तालाबंदी कर अपना विरोध जताया। उम्मीद है कि नए साल में सरकारी स्कूलों में शिक्षकों की कमी नहीं रहेगी। इसके अलावा शिक्षकों को गैर शैक्षणिक कार्यों से मुक्त किया जाए। विद्यालयों में शिक्षकों की कमी का एक प्रमुख कारण गैर शैक्षणिक कार्य भी है। पिछले साल शिक्षकों को पहले बीएलओ ड्यूटी और फिर परिवार पहचान पत्र बनाने में लगाया गया था।

 

श्री अटल बिहारी वाजपेयी मेडिकल कॉलेज को मिलेगी सौगात 

इस वर्ष शिक्षा के क्षेत्र में होंगे यह बड़े बदलाव, फरीदाबाद शिक्षा अधिकारी ने ढांचा किया तैयार 

औद्योगिक जिला मेडिकल हब के रूप में विकसित हो रहा है। आने वाले समय में जिले में डॉक्टरों की कमी नहीं होने दी जाएगी। ईएसआईसी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल के अलावा चाइसां में श्री अटल बिहारी वाजपेयी मेडिकल कॉलेज खुलने की उम्मीद है। इसके बाद चिकित्सा शिक्षा के लिए भी औद्योगिक जिले की पहचान बनेगी।

 

परीक्षा परिणाम बेहतर होगा

इस वर्ष शिक्षा के क्षेत्र में होंगे यह बड़े बदलाव, फरीदाबाद शिक्षा अधिकारी ने ढांचा किया तैयार 

हरियाणा विद्यालय शिक्षा बोर्ड के परीक्षा परिणाम में औद्योगिक जिला हर बार पिछड़ रहा है। पिछले साल 10वीं, 11वीं और 12वीं के छात्रों को बेहतर पढ़ाई के लिए टैबलेट दिए गए हैं। इन पर छात्रों को सिलेबस से रोजाना असाइनमेंट दिए जाते हैं। इससे छात्रों का बेहतर रिवीजन हो रहा है। इसे देखकर अंदाजा लगाया जा सकता है। हरियाणा बोर्ड के नतीजों में जिला टॉप 17 में नहीं बल्कि टॉप 10 में शामिल होगा।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...