HomeTrendingदूधवाले की बेटी ने गौशाला में बैठकर करी पढ़ाई, पहले ही प्रयास...

दूधवाले की बेटी ने गौशाला में बैठकर करी पढ़ाई, पहले ही प्रयास में मिली सफलता

Published on

लोगों के द्वारा ऐसा कहा जाता हैं कि अगर हौसले बुलंद हों तो कोई भी मुकाम हासिल किया जा सकता है। ऐसा ही एक कारनामा एक लड़की ने कर दिखाया हैं। राजस्थान के एक दूध विक्रेता की बेटी ने ऐसा ही कारनामा कर दिखाया हैं, जिन्होंने गौशाला में रहकर पढ़ाई करी। लड़की की मेहनत रंग लाई और वह अपने पहले ही प्रयास में जज बन गई और दूसरों के लिए मिसाल कायम करी।

 

26 साल की उम्र में हासिल करी सफलता

दूधवाले की बेटी ने गौशाला में बैठकर करी पढ़ाई, पहले ही प्रयास में मिली सफलता

राजस्थान के उदयपुर की रहने वाली सोनल शर्मा ने पहले ही प्रयास में राजस्थान न्यायिक सेवा परीक्षा पास कर ली है। सोनल को यह सफलता 26 साल की उम्र में मिली हैं। सोनल ने गौशाला में रहकर अपनी पढ़ाई करी। इसके बावजूद उन्होंने बीए, एलएलबी और एलएलएम की परीक्षा प्रथम श्रेणी से उत्तीर्ण करी।

 

1 नंबर से रह गई थी कट आफ लिस्ट में

दूधवाले की बेटी ने गौशाला में बैठकर करी पढ़ाई, पहले ही प्रयास में मिली सफलता

प्राप्त जानकारी के मुताबिक परीक्षा का परिणाम तो घोषित हो गया था, परंतु वोटिंग लिस्ट में सोनल शर्मा का नाम था। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि वह जनरल कट ऑफ लिस्ट में एक नंबर से पीछे रह गई थी। सोनल शर्मा को यह मौका तब मिला जब एक चयनित उम्मीदवार ने सेवा में नहीं बने रहने का फैसला किया।

 

चप्पल पर लगा रहता था गोबर

दूधवाले की बेटी ने गौशाला में बैठकर करी पढ़ाई, पहले ही प्रयास में मिली सफलता

गरीब परिवार से ताल्लुक रखने वाली सोनल शर्मा को अपनी पढ़ाई के लिए ट्यूशन और स्टडी मटेरियल तक नहीं मिल पाता था। सोनल साइकिल से अपने कॉलेज जाती थी और लाइब्रेरी में पढ़ती थी। सोनल शर्मा ने कहा कि कभी-कभी कॉलेज जाते समय मेरी चप्पलों पर गाय के गोबर का लेप लग जाता था, मुझे अपने सहपाठियों को यह बताते हुए शर्म आती थी कि मैं एक दूधवाले की बेटी हूं, परंतु आज मुझे इस पर गर्व है।

 

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...