HomePublic Issueपार्किंग और सीवर की समस्या से जूझ रहे सैक्टर -15 मार्किट के...

पार्किंग और सीवर की समस्या से जूझ रहे सैक्टर -15 मार्किट के दुकानदार

Published on

Faridabad: शहर के बीचों बीच बसा फरीदाबाद का कनॉट प्लेस  (सैक्टर-15) मार्किट में समस्याओं का अंबार है। मार्किट में हाईमास्क और स्ट्रीट लाइटें लगी हुई हैं लेकिन वह भी पिछले कई माह से खराब पड़ी है। इसके अलावा सैक्टर- 15 में पार्किंग और साफ सफाई की समस्या कई सालो से बनी है। वहीं, मार्किट प्रधान आलोक कुमार का कहना है कि वह मार्किट में पार्किंग, साफ साफ और स्ट्रीट लाइट की शिकायत सीएम विंडो, निगम कमिश्नर, जनता दरबार और जिला उपायुक्त के पास लिखित में दे चुके है। निगम प्रोजेक्ट मैनेजर द्वारका प्रसाद कई बार मार्किट का निरीक्षण कर चुके है, लेकिन समस्या जस की तस बनी हुई है।

दरअसल, सैक्टर-15 की मार्किट में हर रोज हजारों लोगों का आवागमन होता है। ऐसे में ज्यादातर लोग मार्किट में अपने वाहन से आवागमन करते है। वहीं, दूसरी ओर मार्किट के फुटपाथ पर रेहड़ी- पटरी वालों का कब्जा है। मार्किट में पार्किंग की कोई उचित व्यवस्था न होने के कारण लोग भी कार सड़क पर ही पार्क कर चले मार्किट में शॉपिंग करने चले जाते है।

शाम के समय लोगों की अधिक भीड़ होने के कारण मार्किट में जाम लग जाता है। ऐसे में यदि मार्किट के पीछे गुरुद्वारा के पास खाली पड़ी एचएसवीएपी की भूमि पर मल्टी लेवल पार्किंग बना दिया जाए तो सैक्टर- 15 की मार्किट जल्द ही जाम मुक्त हो सकती है। हालांकि, मुख्यमंत्री ने जनता दरबार में अधिकारियों को आदेश दिया था कि रेहड़ी पटरी मार्किट से हटाकर सैक्टर- 12 तिब्बत मार्केट वाली जमीन पर लगाए। लेकिन सीएम के आदेश के तीन माह बीतने के बाद भी अधिकारियों ने रेहडी पटरी वाले लोगों को वेंडिंग जोन नही दिया है।

इसके अलावा मार्किट में साफ- सफाई और हाई मास्क लाइट की व्यवस्था भी दुरुस्त नहीं है। मार्किट में सीवर ओवर फ्लो की समस्या पिछले कई सालो से बनी हुई है। यहां तक कि मार्किट की साफ सफाई के लिए भी निगम की तरफ से कोई कर्मचारी नियुक्त नहीं किया गया है। ऐसे में मार्किट की साफ सफाई के लिए दुकानदारों ने मिलकर एक निजी सफाई कर्मी रखा है। वह सुबह शाम हर रोज मार्किट की सफाई करता है। लेकिन निगम अधिकारियों की तरफ से मार्केट के लोगों को अब तक कोई सहायता नहीं मिली है।

क्या कहना है लोगों का
मार्केट में रोजाना सफाई कर्मचारी आने चाहिए। सड़कों पर गंदगी के ढेर लगे रहते हैं। सीवरेज की सफाई करने के लिए कर्मचारी कभी कभार आते हैं।
– आलोक कुमार, प्रधान- सेक्टर- 15

क्या कहना है अधिकारी
संबंधित मामले को लेकर जब सिटी प्रोजेक्ट मैनेजर द्वारका प्रसाद से संपर्क करने की कोशिश की तो उन्होंने कोई जवाब नही दिया।




Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...