HomeFaridabadफरीदाबाद के ठेकेदारों का पेमेंट रोकने पर हाईकोर्ट ने नगर निगम को...

फरीदाबाद के ठेकेदारों का पेमेंट रोकने पर हाईकोर्ट ने नगर निगम को लगाई फटकार

Published on

अक्सर विवादों में रहने वाले फरीदाबाद नगर निगम के अधिकारियों पर पंजाब एंड हरियाणा हाईकोर्ट ने अपना फैसला सुनाया है। निगम के ठेकेदारों ने केस दर्ज कर अपने कार्यों के भुगतान की गुहार लगाई थी। कोर्ट ने नगर निगम को इन ठेकेदारों के लंबित भुगतान का तत्काल भुगतान करने का आदेश दिया। साथ ही आदेश दिया कि अगली सुनवाई तक नगर निगम किसी भी EXEN व SE को वेतन न दे। ठेकेदारों का आरोप है कि उनके बाद अधिकारियों द्वारा पसंद किए गए ठेकेदारों के काम का भुगतान कर दिया गया है, लेकिन उन्हें भुगतान नहीं किया जा रहा है। ऐसे में कोर्ट ने इन सात ठेकेदारों के भुगतान के अलावा किसी अन्य ठेकेदार के भुगतान पर भी अगली सुनवाई तक रोक लगा दी है।

 

ठेकेदारों का वेतन अटका

फरीदाबाद के ठेकेदारों का पेमेंट रोकने पर हाईकोर्ट ने नगर निगम को लगाई फटकार

नगर निगम ठेकेदार संघ के प्रधान गिरिराज ने कहा कि नगर निगम लगातार ठेकेदारों को उनके काम का भुगतान नहीं कर रहा है। काम होने के बाद कई साल तक नगर निगम में फाइल एक अधिकारी से दूसरे अधिकारी के पास गुजरती रहती है। फिर भी भुगतान नहीं किया जा रहा था। मामले में सात ठेकेदार हाईकोर्ट गए थे। न्यायमूर्ति विनोद एस भारद्वाज ने उनके मामले की सुनवाई करते हुए आदेश दिया कि अगली सुनवाई तक नगर निगम के सभी पांचों EXEN और SE का वेतन रोका जाए।

 

छोटे ठेकेदार है ज्यादा परेशान

फरीदाबाद के ठेकेदारों का पेमेंट रोकने पर हाईकोर्ट ने नगर निगम को लगाई फटकार

इस मामले में ठेकेदार बृजलाल चौरसिया ने बताया कि उनका दो करोड़ का भुगतान नगर निगम में अटका हुआ है। उन्होंने वार्ड-1 में आरएमसी (रेडी मिक्स कंक्रीट) रोड, टाइल्स व सीवर लाइन का काम करवाया था, जिसमें 20 लाख का भुगतान बकाया है। वार्ड-23 में 80 लाख के काम का भुगतान तक नहीं किया गया। वार्ड-415 में आरएमसी रोड का निर्माण किया गया था, जिसमें एक करोड़ का भुगतान कई वर्षों से लंबित है। मैं अपना भुगतान लेने के लिए अदालत गया था। उन्होंने बताया कि ये काम उन्होंने 2020 से अगस्त-2022 के बीच करवाए हैं। काम पूरा होने के बावजूद नगर निगम भुगतान नहीं कर रहा था।

 

20 से 50 करोड़ की पेमेंट अटकी

फरीदाबाद के ठेकेदारों का पेमेंट रोकने पर हाईकोर्ट ने नगर निगम को लगाई फटकार

बाटा आरओबी की मरम्मत के लिए नगर निगम पूर्व में तीन बार टेंडर निकाल चुका है, लेकिन कोई आवेदक सामने नहीं आया। ठेकेदारों ने बताया कि जिन सात ठेकेदारों द्वारा हाईकोर्ट में मामला दायर किया गया है, उनका 10 करोड़ का भुगतान लंबित है। जिसे कोर्ट ने जल्द से जल्द देने को कहा है। साथ ही उन्होंने बताया कि अभी 10 करोड़ बाकी हैं और उनका भुगतान जो अटका हुआ है, जिसका ऑर्डर भी जल्द आ जाएगा। ऐसे में नगर निगम ने इन सात ठेकेदारों का 20 करोड़ का भुगतान अटका दिया है। वहीं ठेकेदारों का दावा है कि अन्य ठेकेदारों का 50 करोड़ से अधिक का भुगतान भी निगम में अटका हुआ है।

Latest articles

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

More like this

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

श्री राम नाम से चली सरकार भूले तुलसी का विचार और जनता को मिला केवल अंधकार (#_बजट): भारत अशोक अरोड़ा

खट्टर सरकार ने आज राज्य के लिए आम बजट पेश किया इस दौरान सीएम...