HomeFaridabad10 साल में बदल जाएगी औद्योगिक नगरी की तस्वीर, तीन चरणों में...

10 साल में बदल जाएगी औद्योगिक नगरी की तस्वीर, तीन चरणों में होगा शहर का विकास

Published on

सरकार के आदेश का नगर निगम गंभीरता से पालन करे तो अगले 10 साल में औद्योगिक नगरी की तस्वीर बदल जाएगी। शहर का विकास तीन चरणों में होगा। प्रथम चरण में प्रथम वर्ष में सभी सड़कों की स्थिति में सुधार किया जाना है। नगर निगम द्वारा विकास कार्यों को गति देने के लिए कार्य योजना तैयार की जा रही है। इसके तहत बच्चों, किशोरों, युवाओं और वरिष्ठ नागरिकों का ख्याल रखा जाएगा। निगम क्षेत्र में एक पार्क के पास खेल स्टेडियम बनाया जाएगा। यहां ट्रैक भी बनाया जाएगा। खेल स्टेडियम बनाने से पहले विभिन्न आरडब्ल्यूए से सुझाव लिए जाएंगे। उनसे चर्चा कर कार्य में तेजी लाई जाएगी।

 

नगर निगम को 10 साल की कार्यप्रणाली की रिपोर्ट तैयार करने के मिले आदेश

10 साल में बदल जाएगी औद्योगिक नगरी की तस्वीर, तीन चरणों में होगा शहर का विकास

12 मई को फरीदाबाद आए शहरी स्थानीय निकाय विभाग के आयुक्त व सचिव विकास गुप्ता ने नगर निगम की कार्यप्रणाली पर नाराजगी जताई है। साथ ही शहर के विकास के लिए एक, पांच व 10 साल की रिपोर्ट तैयार करने को कहा। इसके बाद नगर निगम की इंजीनियरिंग शाखा अब शहर की कमियों को दूर करने की तैयारी में जुट गई है।

 

मोक्ष का आदर्श धाम बनाने के भी हैं आदेश

10 साल में बदल जाएगी औद्योगिक नगरी की तस्वीर, तीन चरणों में होगा शहर का विकास

सरकार की शहर में आदर्श मोक्ष धाम बनाने की योजना है। सौंदर्यीकरण के साथ मोक्षधाम में एसी भी लगेंगे। साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा जाएगा।

 

जर्जर सड़कों की होगी मरम्मत, बनेंगे 50 तालाब

10 साल में बदल जाएगी औद्योगिक नगरी की तस्वीर, तीन चरणों में होगा शहर का विकास

एनआईटी बरखल और बल्लभगढ़ में कई सड़कें जर्जर हालत में हैं। नगर निगम मुख्यालय के पीछे की सड़क वर्षों से जर्जर है। दशहरा मैदान के इस रास्ते से रोजाना बड़ी संख्या में लोगों को जिला सिविल बादशाह खान अस्पताल व नगर निगम जाना पड़ता है। निगम अधिकारियों का कहना है कि पहले चरण में सभी सड़कों की मरम्मत की जाएगी और जहां जरूरत होगी वहां नई सड़कें बनाई जाएंगी। दूसरे व तीसरे चरण में खेल स्टेडियम, नया एसटीपी व मोक्षधाम बनाया जाएगा। पेयजल की कमी को दूर करने के लिए अमृत योजना का कार्य इसी वर्ष पूरा कर लिया जाएगा। निगम क्षेत्र में 50 तालाबों को सजाया जाएगा।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...