HomeEducationहरियाणा में इस बार बच्चों को होमवर्क नहीं: रसोई के मसाले सुने...

हरियाणा में इस बार बच्चों को होमवर्क नहीं: रसोई के मसाले सुने होंगे, मोबाइल से रखना होगा व्रत!

Published on

हरियाणा के सरकारी प्राइमरी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के लिए अब भारी भरकम होमवर्क से मुक्ति देने की तैयारी की गई है। शिक्षा विभाग में कुछ इंपॉर्टेंट पॉइंट तैयार किए हैं। इनके तहत होमवर्क में निबंध सुलेख पहाड़े गिनती लिखने रखने की बजाय एक्सपीरियंस लर्निंग पर जोर दिया जाएगा।

इस लर्निंग में बच्चों के साथ घर परिवार के सदस्य भी मौजूद रहेंगे। साथ ही 1 महीने की छुट्टियों में 4 सेक्शन को बांटा गया है। इस बार बच्चों को इनके अनुसार छुट्टियों में खाना खाते समय टीवी, मोबाइल फोन इस्तेमाल नहीं करना चाहती। 1 दिन का मोबाइल से व्रत रखना है यानि, फोन इस्तेमाल नहीं करना है। परिवार के सदस्यों के 10 मोबाइल नंबर याद करने हैं।

हरियाणा में इस बार बच्चों को होमवर्क नहीं: रसोई के मसाले सुने होंगे, मोबाइल से रखना होगा व्रत!


बच्चों को अपने नाना-नानी दादा-दादी से पूछना है कि उनकी शादी वाले दिन कौन सी मिठाई बनी थी। अपने शहरों का नाम और पिन कोड का पता करना है। साथ ही रसोई के मसालों को छूकर और सुनकर देखना है। बच्चों के परिजनों से टीचर्स बीच-बीच में फीडबैक लेंगे।
प्रदेश में सरकारी प्राइमरी स्कूलों में करीब 1100000 बच्चे पढ़ते हैं। शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुर्जर का कहना है कि विद्यार्थी गर्मियों की छुट्टियों में इस बार घर पर परिजनों के बीच रहकर ऐसी एक्टिविटी करेंगे जिससे वह बहुत कुछ सीखेंगे।


इसके लिए टीचर्स बच्चों को ट्रेनिंग देंगे और साथ ही छुट्टियों में दादा दादी नाना नानी माता, पिता और परिवार के बड़े सदस्य बच्चों के मेंटर की भूमिका में होंगे। बता दे कि सरकारी स्कूलों में गर्मियों की छुट्टियां 1 जून से होंगी।

हरियाणा में इस बार बच्चों को होमवर्क नहीं: रसोई के मसाले सुने होंगे, मोबाइल से रखना होगा व्रत!

इस तरह बांटे गए 4 सेक्शन!
सेक्शन- ए
मूंग उड़द चना दाल को अंकुरित कर रोज फोटो लेंगे।
खेत व्यापारी गमले में मक्की, भिंडी घीया तोरी के बीज लगाएंगे।
पौधे की लंबाई नापेंगे। गमलों में पानी डालेंगे। पौधों की देखभाल करेंगे।
आम नीम जामुन की गुठलियों को उगाना है।
खरबूजा तरबूज के बीजों को निकालकर साफ करेंगे। उनकी गिनती करेंगे।
3 पहेली याद करेंगे, इन्हें अपनी उम्र के बच्चों से पूछेंगे।
फैमिली मेंबर्स के जूतों का नंबर लिखना है। परिवार के 10 सदस्यों को मोबाइल नंबर याद करना है।

सेक्शन बी 
सेक्स हिंदी में रसोईघर की हर जानकारी जुटाने के जैसे बर्तनों के नाम, संख्या, धातु उपयोग के बारे में लिखना, आटा, नमक, दाल आदि की जानकारी लेना है।
अखबार, टीवी आदि से नहाने के साबुन के नाम,  रिफाइंड तेल पर पेय पदार्थ के नाम लिखना है।
रसोई के मसालेदार ने खाद्य सामग्रियों के नाम लिखना उन्हें छू कर कर देखना है। घर में रखी वस्तुओं की सूची बनाइए घर में कितने घंटा पंखा चलता है, रिकॉर्ड रखेंगे।

सेक्शन सी
समाचार पत्रों से विद्यार्थी खिलाड़ी की तस्वीरें एकत्रित करेंगे और उनके नाम और उनके खेल के बारे में जानकारी हासिल करेंगे।
कितनी देर मोबाइल का प्रयोग किया टीवी कितनी देर देखा, घर से पार्क मंदिर दुकान कितनी दूर है। रोजाना कितने कदम चलते हैं, इसका रिकॉर्ड रखना है।
डाकघर, बैंक, बस स्टैंड, रेलवे स्टेशन, सब्जी मंडी और अनाज मंडी का भ्रमण करना है। छुट्टियों में की गई यात्रा का विवरण कहां कहां गए?

सेक्शन डी
दादा दादी नाना नानी के पांव दबाना है। उनके साथ खेलना है। एक प्रार्थना याद करनी है। भजन शब्द या धार्मिक गीत याद करना है।
पांच चुटकुले याद करना है।  सुबह जल्दी उठना है, बिस्तर पे करना है। योग करना सीखना है।
परिवार के साथ समय बिताना है। दादा नानी के साथ फैमिली ट्री बनाना है।
3 मिनट में एक नल से कितना पानी आता है, यह लिखना है।
दादा दादी नाना नानी की शादी में कौन सी मिठाई बनी थी, उस पर चर्चा कर कर वीडियो बनाना है।

Latest articles

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...

Faridabad का ये किसान थोड़ी सी समझदारी से आज कमा रहा लाखों, यहां जानें कैसे

आज के समय में देश के युवा शिक्षा, स्वास्थ आदि क्षेत्रों के साथ साथ...

Haryana के इस शख्स ने किया Bollywood के सुपरस्टार ऋतिक रोशन के साथ काम, इससे पहले भी कर चुके है कई फिल्मों में काम

प्रदेश के युवा या बुजुर्ग सिर्फ़ खेल या शिक्षा के मैदान में ही तरक्की...

More like this

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित हुआ दो दिवसीय बसंतोत्सव

अरूणाभा वेलफेयर सोसायटी , फरीदाबाद द्वारा आयोजित दो दिवसीय बसंतोत्सव के शुभ अवसर पर...

आखिर क्यों बना Haryana के टीचर का फॉर्म हाउस पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

आज के समय में फॉर्म हाउस बनाना कोई बड़ी बात नहीं है, लेकिन हरियाणा...

Faridabad का ये किसान थोड़ी सी समझदारी से आज कमा रहा लाखों, यहां जानें कैसे

आज के समय में देश के युवा शिक्षा, स्वास्थ आदि क्षेत्रों के साथ साथ...