HomeFaridabadफरीदाबाद की बारिश ने बिजली की कटौती में बढ़ाई परेशानी, उपभोक्ता शिकायत...

फरीदाबाद की बारिश ने बिजली की कटौती में बढ़ाई परेशानी, उपभोक्ता शिकायत निवारण फोरम में 6 उपभोक्ताओं ने रखी समस्या।

Published on

फरीदाबाद में हुई 2 दिनों की झमाझम बारिश में शहर के कई हिस्सों में बिजली की आपूर्ति प्रभावित रही। बुधवार शाम तक लोग बिजली की किल्लत से जूझ तेरे ओ साथी एनआईटी के लोगों को ज्यादा परेशानी हुई।

मौसम विभाग की ओर से 2 जून तक बारिश होने की संभावना जताई गई थी। इसके बाद मंगलवार शाम को अचानक से मौसम ने करवट बदली और तेज हवाओं के साथ साथ बारिश हुई और बिजली व्यवस्था बदहाल हो गई। वही कुछ हिस्सों में लोगों को अंधेरे में बैठकर रात बिजली निगम के मुताबिक मंगलवार शाम और बुधवार शाम तक करीब 3500 ऑनलाइन फॉर्म और ऑनलाइन शिकायतें मिली। निगम के अधीक्षण अभियंता नरेश कक्कड़ ने बताया कि बारिश में जो  समस्या उत्पन्न हो गई है, उसका तुरंत कार्य किया जाए।

फरीदाबाद की बारिश ने बिजली की कटौती में बढ़ाई परेशानी, उपभोक्ता शिकायत निवारण फोरम में 6 उपभोक्ताओं ने रखी समस्या।

बिजली निगम की मनमानी से लोग अपना रौद्र रूप दिखा रहे हैं। लोगों का कहना है कि हर महीने बिजली का बिल देने के बाद भी हजारों रुपयों का बिल भेजा जा रहा है और अन्य उपभोक्ता ने बताया कि हर महीने पैसे जमा करने के बाद भी 90000 का बिल दे दिया है। बिल देखकर लोगों के होश उड़ रहे हैं। बिल देखकर अधीक्षण अभियंता नरेश कक्कड़ भी सोच में पड़ गए।

फरीदाबाद की बारिश ने बिजली की कटौती में बढ़ाई परेशानी, उपभोक्ता शिकायत निवारण फोरम में 6 उपभोक्ताओं ने रखी समस्या।

बुधवार को सेक्टर 23 स्थित बिजली निगम कार्यालय में उपभोक्ता शिकायत निवारण फोरम की बैठक का आयोजन किया गया, जिसमें अधीक्षण अभियंता नरेश कक्कड़ ने मीटर में गड़बड़ी होने का कारण बताएं और साथ ही उपभोक्ताओं की समस्या को सुना। शहर के अलग-अलग हिस्सों में आए लोगों से संबंधित एसडीओ की समस्याओं से समाधान करने का आदेश दिया गया।

फरीदाबाद की बारिश ने बिजली की कटौती में बढ़ाई परेशानी, उपभोक्ता शिकायत निवारण फोरम में 6 उपभोक्ताओं ने रखी समस्या।

संजय कॉलोनी स्थित निवासी नरेंद्र जैन ने बताया कि बिजली निगम की ओर से उन्हें ₹25000 भेजे गए यह देखकर वे आश्चर्य में पड़ गए और तुरंत फोन किया। कर्मचारी से शिकायत की लेकिन कोई सुनवाई नहीं हुई। इसके बाद अभियंता ने एक जांच के बाद समस्या के समाधान का आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि बिल में गड़बड़ी के मामले बहुत कम सामने आते हैं। मामले की जांच की जा रही है। संबंधित कर्मचारियों पर भी कार्यालय स्तर पर कार्यवाही की जाएगी। साथ ही बल्लबगढ़ निवासी राकेश कुमार सिंगला ने बताया कि कई बार निगम के चक्कर काट चुके हैं, लेकिन किसी भी तरह की कोई भी कार्यवाही नहीं होती। केवल आश्वासन मिलता है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...