HomeFaridabadफरीदाबाद स्मार्ट सिटी में युवा हो रहे हैं कैंसर का शिकार, जाने...

फरीदाबाद स्मार्ट सिटी में युवा हो रहे हैं कैंसर का शिकार, जाने पूरी खबर।

Published on

स्मार्ट सिटी में कैंसर के मरीजों की संख्या चिंताजनक है। शहर में सबसे ज्यादा मुंह, स्तन और गर्भाशय कैंसर के मामले सामने आ रहे हैं और ज्यादातर बीमार लोगों की उम्र 25 से 40 वर्ष है। इसी बीच सरकारी अस्पताल में इलाज के लिए किसी भी प्रकार की उचित व्यवस्था ना होने के कारण मरीजों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। पिछले कई साल से कैंसर के मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

फरीदाबाद में कैंसर के मरीजों की संख्या एक चिंता का विशेष विषय है। डॉक्टर का कहना है कि कोरोना के दौरान रोगी की संख्या में सबसे ज्यादा बढ़ोतरी थी, परंतु नागरिक अस्पताल के मुताबिक युवाओं के मुंह गले और जीभ के कैंसर की बीमारी तेजी से बढ़ रही है और इस बीमारी में 25 से 40 वर्ष के आयु वर्ग के लोग मुंह से संबंधित कैंसर के मरीज अधिक पाए जा रहे हैं।

फरीदाबाद स्मार्ट सिटी में युवा हो रहे हैं कैंसर का शिकार, जाने पूरी खबर।

मुंह से संबंधित कैंसर का मुख्य कारण तंबाकू चबाना, गुटका, धूम्रपान और शराब का सेवन करना होता, क्योंकि एक दशक तक मूल संबंधित कैंसर हुक्का पीने वाले उम्रदराज लोगों को होता था, परंतु अब जीवनशैली बदलने से धूम्रपान एवं शराब स्टेटस सिंबल बन गया है। ऐसे में कैंसर की गिरफ्त में तेजी से आ रहे हैं।

निजी अस्पताल के डॉक्टर सनी जैन ने बताया कि खानपान में कमी के कारण कैंसर के मामले बढ़ रहे हैं। इसका एक बड़ा कारण यह भी है कि लोग जांच कराने से डर रहे हैं और यह एक ऐसी बीमारी है जो अंतिम समय पर सामने आती है। 30 वर्ष के पश्चात सभी को शरीर की जांच कराने की आवश्यकता है जिससे बीमारी का पहले ही पता लग जाए और इसका सही इलाज सही समय पर किया जा सके।

फरीदाबाद स्मार्ट सिटी में युवा हो रहे हैं कैंसर का शिकार, जाने पूरी खबर।

नागरिक अस्पताल यानी बीके में केवल जांच और कीमोथेरेपी की जाती है। इसके अतिरिक्त इलाज के लिए मरीजों को दिल्ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान या फिर निजी अस्पतालों की ओर रुख करना पड़ता है। वहीं कुछ लोग निजी अस्पतालों को उपचाराधीन है। कैंसर के बढ़ते मरीजों को देखते हुए लोगों ने नागरिक अस्पताल में कैंसर वार्ड बनाने की मांग की है।

वहीं साल 2019 में कैंसर के मरीज 3233 थे। जिसमें से ओरल कैंसर के 36 मरीज थे, फेफड़ों के कैंसर के 1164 मरीज थे, सर्वाइकल कैंसर के 455 और स्तन कैंसर के 521 मरीज थे।

फरीदाबाद स्मार्ट सिटी में युवा हो रहे हैं कैंसर का शिकार, जाने पूरी खबर।

वहीं साल 2020 के मुताबिक कैंसर के मरीजों की संख्या 2225 थी, जिनमें से ओरल कैंसर के 19 मरीज थे, फेफड़ों के कैंसर के 1124 मरीज थे, सर्वाइकल कैंसर के 333 मरीज थे और स्तन कैंसर के 457 मरीज थे।

मई साल 2021 में कैंसर के मरीजों की संख्या कुल 1872 थी, जिनमें से ओरल कैंसर के मरीज 527 सथे, फेफड़ों के कैंसर के मरीज 1177 थे, सर्वाइकल कैंसर के मरीज 729 थे और स्तन कैंसर के मरीज 1350 थे।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

पुलिस का दुरूपयोग कर रही है भाजपा सरकार-विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 26 फरवरी को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने बहादुरगढ में...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...