HomeFaridabadहरियाणा की जिया ने विदेशी सरजमीं पर जीता स्वर्ण पदक, गांव की...

हरियाणा की जिया ने विदेशी सरजमीं पर जीता स्वर्ण पदक, गांव की पगडंडियों से निकलकर किया नाम रोशन, जानिए पुरी ख़बर।

Published on

गांव की पगडंडियों को नापते हुए बैडमिंटन खेल में प्रांगत होकर भारतीय टीम में शामिल जिया रावत ने विदेशी सरजमीं पर तिरंगा फहरा कर देश का नाम रोशन किया है। बल्लमगढ़ उपमंडल के गांव सागरपुर की बाला जिया रावत ने कजाकिस्तान में संपन्न हुई अपेक्स फ्यूचर सीरीज 2023 महिला एकल का खिताब जीता। फाइनल तक के सफ़र के दौरान जिया ने रैंकिंग में नंबर 2 खिलाड़ी फिलीपींस की डी गुजमान मिकेल  जाय को हराकर बड़ी बाधा पार की और फिर स्वर्ण पदक जीत कर दम लिया।

जिया रावत ने पहले राउंड में उजवेकिस्तान की खिलाड़ी शिरीना को 21 6 , 21 7 से सीधे गेम में हराया। दूसरे राउंड में जिया ने नंबर दो रंग खिलाड़ी फूली प्रिंस को डेगुजमान निकल राय को 21-7, 21-13 से हराकर कोर्ट में सनसनी फैलाई और क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। क्वार्टर फाइनल में जिया ने कड़े मुकाबले संयुक्त अरब अमीरात के खिलाड़ी भारतीय मूल मधुमिता से जीत दर्ज कर सेमीफाइनल की ओर कदम बढ़ाया और सेमीफाइनल में जिया का मुकाबला मेजबान देश कजाकिस्तान की कैमिला समागुलोवा से था। यहां जिया पहला गेम हार गई परंतु वापसी करते हुए अगले गेम में दोनों गेम से जीतकर फाइनल में पहुंचकर  स्वर्ण पदक जीता।

हरियाणा की जिया ने विदेशी सरजमीं पर जीता स्वर्ण पदक, गांव की पगडंडियों से निकलकर किया नाम रोशन, जानिए पुरी ख़बर।

अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप में 3 जून को फाइनल में जिया का मुकाबला अपने ही देश के महाराष्ट्र राज्य की अलीशा नायक से था। परंतु अलीशा घुटने की चोट के कारण फाइनल से बाहर हो गई और इस तरह से स्वर्ण पदक पर कब्जा किया। स्वर्ण पदक जीतकर लौटी जिया रावत ने कहा कि अलीशा से मुकाबले को उत्साहित थी पर यह हो न सका। अलीशा को इससे पहले जीया रावत जनवरी 2023 में चंडीगढ़ में ऑल इंडिया रैंकिंग टूर्नामेंट में आर मार्च 2023 में डेनमार्क और जर्मनी के लिए आयोजित जूनियर ट्रायल गेम्स में हरा चुकी है। जिया ने कहा कि उनके जीवन की एक बड़ी उपलब्धि है।

जीया अभी 17 साल की हूं और उसमें असीम प्रतिभा है। इसी तरह खेल पर मेहनत करती रहेंगी और वह आने वाले समय में देश का नाम ऊंचा करेंगे।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...