HomeFaridabadलोन लेने वालों के लिए आरबीआई का नया नियम हुआ लागू, आपके...

लोन लेने वालों के लिए आरबीआई का नया नियम हुआ लागू, आपके लिए नुकसान या फायदा, जाने पूरी खबर।

Published on

हाल ही में आरबीआई ने लोन लेने के लिए नए नियम लागू कर दिए है जिसके कारण अब लोन लेनाऔर भी चुनौतीपूर्ण हो गया। ग्राहकों को पहले तक बैंकों में आसानी से ऋण मिलता था और प्रक्रिया भी सरल होती थी। लेकिन अब यह दुर्गम हो गई है। पर्सनल लोन और क्रेडिट कार्ड लोन के लिए मजबूत नियम लागू हुए हैं, जिनके कारण ग्राहकों को अधिक सतर्कता और ध्यान देने की आवश्यकता होगी।

लोन लेने वालों के लिए आरबीआई का नया नियम हुआ लागू, आपके लिए नुकसान या फायदा, जाने पूरी खबर।

फरवरी 2023 में पर्सनल लोन लेने वालों की संख्या में वृद्धि देखी गई। महंगाई में वृद्धि के कारण आने वाले समय में डिफॉल्टरो की संख्या में बढ़ोतरी की भी आशंका है। भारतीय रिजर्व बैंक ने नए नियम लागू करके पर्सनल लोन और क्रेडिट कार्ड लोन के नियम सख्त कर दी है। यह नया नियम लोगों को लोन की प्राप्ति के लिए मुश्किलें पैदा कर सकता है। अब आम ग्राहकों को इनफील्ड को प्राप्त करने के लिए अतिरिक्त प्रक्रियाएं पूरी करनी होगी।

लोन लेने वालों के लिए आरबीआई का नया नियम हुआ लागू, आपके लिए नुकसान या फायदा, जाने पूरी खबर।

आरबीआई ने नए नियम के अनुसार व्यक्तिगत ऋण या क्रेडिट कार्ड प्राप्त करना आम लोगों के लिए पहले से कठिन हो गया। इसका कारण अब बैंकों को ग्राहकों के पीछे के विवरण की जांच करनी होगी। पहले लोन लेने से पहले ग्राहकों के बैकग्राउंड की जांच की आवश्यकता नहीं थी और ना ही ज्यादा संपत्ति की गिरवी रखने की जरूरत थी। लेकिन अब नियमों के महत्वपूर्ण बदलाव आने की वजह से लोन लेने वालों को काफी समस्या का सामना करना पड़ सकता है।

लोन लेने वालों के लिए आरबीआई का नया नियम हुआ लागू, आपके लिए नुकसान या फायदा, जाने पूरी खबर।

आरबीआई ने हाल ही में नए नियम जारी किया है जिसके अनुसार पर्सनल लोन लेने के लिए ग्राहकों को गारंटी की आवश्यकता होगी। यह नियम बैंकों को ग्राहकों की आर्थिक स्थिति की जांच करने का अवसर देगा और डिफॉल्टरो की संख्या को कम करने में मदद करेगा। पहले की तुलना में जब यह लोन दिए जाते थे तो ग्राहकों से कोई गारंटी नहीं ली जाती थी।

लोन लेने वालों के लिए आरबीआई का नया नियम हुआ लागू, आपके लिए नुकसान या फायदा, जाने पूरी खबर।

जिसके कारण बैंकों को नुकसान का सामना करना पड़ता था। इस प्रकार के लोन का उपयोग तेजी से बढ़ते डिफॉल्टरो की संख्या को बढ़ावा देने में मदद कर रहा था। हालांकि नए नियम के अनुसार इस प्रकार के लोन लिए जा रहे लोगो की पहले ही आर्थिक स्थिति में जांच की जाएगी, ताकि इस तरीके से डिफॉल्टरो की संख्या को कम किया जा सके।

Latest articles

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

More like this

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...