HomeFaridabadफरीदाबाद में चिंताजनक सुरक्षा इंतजाम की कमी से डेथ वैली में जान...

फरीदाबाद में चिंताजनक सुरक्षा इंतजाम की कमी से डेथ वैली में जान गवा रहे हैं युवा, जाने पूरी खबर।

Published on

अरावली के जंगलों में बनी आधा दर्जन से अधिक कृत्रिम झीलें दो युवाओं की मौत की घटना के बाद अब फिर से एक बार चर्चा में हैदर अली के नाम से चर्चित इन कृत्रिम झीलो में गिरकर वर्ष 2009 में आज से अब तक 100 से अधिक युवाओं की जान जा चुकी है। बीते 2 सालों में ही 5 से अधिक युवाओं की मौत हो गई है। बावजूद इसके सरकारी महकमा सैलानी की सुरक्षा को लेकर गंभीर नहीं दिखा।

फरीदाबाद में चिंताजनक सुरक्षा इंतजाम की कमी से डेथ वैली में जान गवा रहे हैं युवा, जाने पूरी खबर।

सरकारी अम्लों की लापरवाही से अरावली के जंगल में बने कृत्रिम झील यानी डेथ वैली ने साल 2009 से अब तक 100 से अधिक युवाओं की मौत की नींद सुला चुकी है। बावजूद संबंधित विभाग हादसा रोकने का इंतजाम नहीं कर रहे हैं। ऐसे में इंटरनेट पर सैर सपाटे के ठिकाने तलाशते हुए दिल्ली एनसीआर के काफी वह वहां पहुंच रहे हैं। विभाग की लापरवाही का आलम यह है कि बीते दो साल में यहां 5 से अधिक युवाओं की इस में डूबने से मौत हो गई है। दो युवाओं की डूबने से अरावली की डेथ वैली एक बार फिर से चर्चा में है। जानकारी के अनुसार अरावली में 8 से 10 गहरी खाई व कृत्रिम झील हैं।

फरीदाबाद में चिंताजनक सुरक्षा इंतजाम की कमी से डेथ वैली में जान गवा रहे हैं युवा, जाने पूरी खबर।

इन जिलों की खूबसूरती की फोटो वीडियो सोशल मीडिया पर भी अपलोड होती है। ऐसे में गर्मी के दिनों में सैर सपाटे की योजना बना रहे हैं। युवा सोशल मीडिया पर वीडियो फोटोस देखकर आकर्षित हो जाते हैं। इन लोगों को कहना है कि झील की खूबसूरत पानी को देखकर उसमें नहाने उतरते और हादसे का शिकार हो जाते हैं।

फरीदाबाद में चिंताजनक सुरक्षा इंतजाम की कमी से डेथ वैली में जान गवा रहे हैं युवा, जाने पूरी खबर।

अरावली स्थित सिरोही कृत्रिम झील में डूबने से दिल्ली के संगम विहार निवासी नजीम व गुड्डू उर्फ मधुसूदन की मौत हो गई। दोनों अपने चार दोस्तों के साथ झील के पास मौज-मस्ती करने थे। साथ ही दोनों झील में नहाने उतरे थे।  बीके अस्पताल में दोनों के शवों का पोस्टमार्टम किया गया।
अरावली में कई गहरी खाई व कृत्रिम झील है। कई झील तो फरीदाबाद-गुरूग्राम रोड किनारे स्थित है, जहां हादसा होने की आशंका अधिक है। ऐसे में इन झीलों के आसपास व गुरुग्राम फरीदाबाद रोड पर चेतावनी संबंधित बड़े-बड़े होर्डिंग्स लगाए जाएंगे, जिससे युवा जागरूक हो सके।

फरीदाबाद में चिंताजनक सुरक्षा इंतजाम की कमी से डेथ वैली में जान गवा रहे हैं युवा, जाने पूरी खबर।

जानकारी के अनुसर वर्ष 1991 तक अरावली में खनन का कार्य चल रहा था। वर्ष 1991 में सरकार ने इसपर रोक लगा दी। ऐसे में फरीदाबाद-गुरूग्राम रोड किनारे आधे दर्जन से अधिक गहरी खाई कृत्रिम झील में बदल गई। साथ ही जंगल के अंदर भी कई ऐसे खाई है, जो झील का रूप ले लिया है। ये झीलें प्राकृतिक नहीं हैं। इनकी गहराई का अंदाजा लगाना मुश्किल है ।बावजूद सोशल मीडिया पर इसकी खूबसूरती देखकर लोग वहां तक पहुंचते हैं और नहाने के साथ सेल्फी लेने के चक्कर में इसमें गिरकर अपनी जान गवां रहे हैं। इस झील को देखने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं।

Latest articles

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

More like this

NIT क्षेत्र में पानी की किल्लत के समाधान को लेकर FMDA के CEO से मिले विधायक नीरज शर्मा

आज दिनांक 29 मई 2024 को एनआईटी फरीदाबाद से विधायक नीरज शर्मा ने फरीदाबाद...

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...