HomeFaridabadदिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे के निरीक्षण में देरी बनी अधिकारियों के खुशी का कारण,...

दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे के निरीक्षण में देरी बनी अधिकारियों के खुशी का कारण, यहां जाने कैसे

Published on

जब हमें कोई काम सौंपा जाता है और वह काम समय पर पूरा नहीं होता, तो वह हमारे लिए चिंता का विषय बन जाता है। दरअसल अब ऐसा ही कुछ बाईपास रोड पर दिल्ली मुंबई एक्सप्रेसवे का लिंक रोड बनाने वाले अधिकारियों के साथ हुआ है। अभी तक उन्होंने इस रोड के निर्माण का कार्य पूरा नहीं किया है, जिस वजह से जब निरीक्षण का समय करीब आया तो उनकी सांसें फूल गई। और उन्होंने काम तेज़ी से शुरू कर दिया।

दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे के निरीक्षण में देरी बनी अधिकारियों के खुशी का कारण, यहां जाने कैसे

लेकिन NHAI के चेयरमैन के दौरे में देरी से उन्हें एक राहत की सांस मिली है। दरअसल हुआ यू कि बीते शनिवार को बारिश की वजह से NHAI के चेयरमैन संतोष यादव ने एक्सप्रेसवे के निरीक्षण का दौरा रद्द कर दिया। बता दें कि अधिकारियो को अगस्त 2023 तक इस परियोजना को पूरा करना था, लेकिन उनका अभी काम आधा अधूरा है।

दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेसवे के निरीक्षण में देरी बनी अधिकारियों के खुशी का कारण, यहां जाने कैसे

जानकारी के लिए बता दें कि इस लिंक रोड को नोएडा में डीएनडी फ्लाईओवर से कालिंदी कुंज होते हुए सोहना तक बनाया जा रहा है। जिस वजह से फरीदाबाद में बायपास रोड को एक्सप्रेसवे लिंक रोड के रूप में बदला जा रहा है। इसके लिए इस सड़क को चौड़ा करके 12 लेन का बनाया जा रहा है। वहीं सभी मुख्य चौराहों पर अंडरपास, फ्लाईओवर और एलिवेटेड रोड बनाए जाएंगे। इस एक्सप्रेसवे की मुख्य सड़क को 6 लेन का बनाया जा रहा है।

इसी के साथ बता दें कि इस काम को पूरा होने में अभी करीब 1 साल का समय लगेगा। क्योंकि कुछ जगह पर काम कछुआ की गति से चल रहा है।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...