HomeFaridabadफरीदाबाद में इंटरनेट सेवा बंद होने से रुकी जनता की जिंदगी, यहां...

फरीदाबाद में इंटरनेट सेवा बंद होने से रुकी जनता की जिंदगी, यहां जानें पूरी ख़बर

Published on

जब से सब काम ऑनलाइन हुए हैं, जब से ही इंटरनेट सेवा जीवन का एक हिस्सा बन गया है। बिना इंटरनेट के हम आज के समय में कुछ नहीं कर सकते। लेकिन क्या हो जब ये इंटरनेट की सेवा ही बंद हो जाए तो? दरअसल 31 जुलाई से नूह हिंसा के बाद से फरीदाबाद शहर में इंटरनेट की सेवा पूरी तरह से बंद हैं। जिस वजह से यहां के लोगों का जीवन रुक सा गया है।

फरीदाबाद में इंटरनेट सेवा बंद होने से रुकी जनता की जिंदगी, यहां जानें पूरी ख़बर

क्योंकि इंटरनेट सेवा बंद होने के बाद से ऑनलाइन लेन देन, बुकिंग, बिलिंग, ऑनलाइन सामान आर्डर पर असर पड़ा है। जिस वजह से मार्केट पूरी तरह से ठप हो गई है। लोग ऑनलाइन पेमेंट नहीं कर पा रहे हैं, जिस वजह से दुकानदारो को काफ़ी नुकसान हों रहा हैं। मेट्रो स्टेशन, पेट्रोल पंप पर डेबिट और क्रेडिट कार्ड न चलने की वज़ह से ATM और बैंक में पैसे निकालने के लिए लोगों की लाइन लगी हुई है।

फरीदाबाद में इंटरनेट सेवा बंद होने से रुकी जनता की जिंदगी, यहां जानें पूरी ख़बर

बता दें कि शहर में इंटरनेट सेवा पांच अगस्त तक बंद रहेंगी। 31 जुलाई से लेकर अब तक इंटरनेट सेवा बंद होने की वजह से करोड़ों का नुकसान हो चुका है। इस पर कपड़ा कारोबारी अनिल आनंद का कहना है कि, हिंसा की वजह से महिलाएं ज्यादा मार्केट में नहीं आ रही है। जिस वजह से कपड़ो की सेल में गिरावट आई है। साथ ही ऑनलाइन बिजनेस भी ठप है।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...