HomeFaridabadइस वजह के चलते एक बार फिर हुए फरीदाबाद के किसान परेशान,...

इस वजह के चलते एक बार फिर हुए फरीदाबाद के किसान परेशान, सरकार है उनकी इस परेशानी की वजह

Published on

किसान किसी भी देश का अन्नदाता होता है, वह देश की जनता का पेट भरता है। इसलिए देश का किसान कभी दुखी नहीं होना चाहिए, लेकिन शहर के किसानों की बात ही कुछ और है उन पर दिन कोई न कोई आफ़त आती रहती हैं। जैसे पहले बाढ़ ने उनकी फ़सल बर्बाद कर दी, फिर बेसहारा पशुओं ने उनकी फ़सल बर्बाद कर दी और अब सरकार किसानों को उनकी पुरानी फ़सल के पैसे नहीं दे रही हैं।

इस वजह के चलते एक बार फिर हुए फरीदाबाद के किसान परेशान, सरकार है उनकी इस परेशानी की वजह

दरअसल तीन महीने पहले हरियाणा भंडारण निगम ने शहर के किसानों से गेहूं की फसल खरीदी थी। लेकिन अभी तक एचडब्ल्यूसी ने किसानों की लाखों रुपए की राशि का भुगतान नहीं किया है। जिस वजह से किसान अपनी राशि लेने के लिए रोजाना किसी न किसी अधिकरी या बैंक के चक्कर काटते हैं। पैसे न मिलने की वजह से किसान दुःखी हो गए हैं।

इस वजह के चलते एक बार फिर हुए फरीदाबाद के किसान परेशान, सरकार है उनकी इस परेशानी की वजह

इस पर हरियाणा भंडारण निगम के प्रबंधक मनोज पाराशर ने बताया कि,”बल्लभगढ़ मंडी के किसानों के खातों और ई पोर्टल पर पंजीकरण मे गलतियां मिली थीं। जिस वजह से उनकी राशि उन तक नहीं पहुंच पाई है। अब उनकी इस गलतियों को दूर करने के लिए अधिकारियो और बैंक कर्मचारियों से बात की गई हैं। जैसे ही उनकी यह गलतियां ठीक हो जाएगी, वैसे ही उनकी राशि का भुगतान कर दिया जाएगा।”

इस वजह के चलते एक बार फिर हुए फरीदाबाद के किसान परेशान, सरकार है उनकी इस परेशानी की वजह

जानकारी के लिए बता दें खाद्य एवं आपूर्ति विभाग और हरियाणा भंडारण निगम ने 10 अप्रैल को बल्लभगढ़ अनाज मंडी में गेहूं की सरकारी खरीद शुरू की थीं। और 30 अप्रैल तक मंडी में गेहूं की सरकारी खरीद चली थीं।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...