HomeFaridabadफरीदाबाद की ये जगह आपको दिला देगी सदियों पूराने युद्ध में शहीद...

फरीदाबाद की ये जगह आपको दिला देगी सदियों पूराने युद्ध में शहीद हुए जवानों की याद, यहां जानें कौन सी है वो जगह

Published on

लगभग 200 वर्षो के बाद 15 अगस्त 1947 को भारत अंग्रेजी हुकूमत की बेड़ियों से आज़ाद हुआ था। देश की आज़ादी की लड़ाई से लेकर आज तक बहुत से वीरों ने अपने प्राणों की आहूति दी है। इन्हीं वीरों के बलिदान को याद करनें के लिए देश के अलग अलग कौने में शहीद स्मारक स्थल बनाए गए हैं। इन्हीं शहीद स्मारको में से एक है फरीदाबाद के टाउन पार्क में स्थित शहीद स्मारक।

फरीदाबाद की ये जगह आपको दिला देगी सदियों पूराने युद्ध में शहीद हुए जवानों की याद, यहां जानें कौन सी है वो जगह

इस पार्क उन वीर शहीद जवानों को नमन करने के लिए वर्ष 1971 में हिंदुस्तान और पाकिस्तान के युद्ध में उपयोग हुआ युद्धक टैंक विजयंत रखा गया है। यह वहीं टैंक है जिसकी मदद से भारत ने पाकिस्तान को हराया था। इसी के साथ इस पार्क में साल 1965 और 1971 में पाकिस्तान के खिलाफ युद्ध में उपयोग किया गया युद्धक विमान हॉकर हंटर भी रखा गया है।

फरीदाबाद की ये जगह आपको दिला देगी सदियों पूराने युद्ध में शहीद हुए जवानों की याद, यहां जानें कौन सी है वो जगह

इस पार्क में कई शहीद जवानों के नाम सुनहरे अक्षरों में लिखे हुए हैं। राष्ट्रीय त्योहार के दिन इस पार्क में हजारों लोग इन शहीदों को याद करके उन्हें नमन करने आते हैं। बता दें कि इन टैंक और विमानों को किसी तरह की क्षति न पहुंचे इसलिए इनकी देखभाल के लिए सिक्योरिटी गार्ड और अधिकारी नियुक्त किए गए हैं।‌

फरीदाबाद की ये जगह आपको दिला देगी सदियों पूराने युद्ध में शहीद हुए जवानों की याद, यहां जानें कौन सी है वो जगह

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...