HomeFaridabadइस स्वतंत्रता दिवस भी नहीं आई फरीदाबाद के बेजान तालाबों में जान,...

इस स्वतंत्रता दिवस भी नहीं आई फरीदाबाद के बेजान तालाबों में जान, मुख्यमंत्री के दावे हुए फेल

Published on

इस साल का स्वतंत्रता दिवस भी आ गया है, लेकिन इस बार भी अमृत सरोवर योजना के तहत बनने वाले तालाब अभी तक तैयार नहीं हुए हैं। दरअसल मुख्यमंत्री खट्टर ने
अमृत सरोवर योजना के तहत शहर के मृत तालाबों को 15 अगस्त 2023 तक जीवित करने का ज़िम्मा उठाया था। अब 15 अगस्त भी आ गया, लेकिन अभी तक तालाब का कार्य आधा अधूरा है।

इस स्वतंत्रता दिवस भी नहीं आई फरीदाबाद के बेजान तालाबों में जान, मुख्यमंत्री के दावे हुए फेल

बता दें कि इन तालाबों का केवल 50 से 60 प्रतिशत काम ही पूरा हुआ है। क्योंकि अभी तक इन तालाबों के आसपास न तो घूमने के लिए पक्के ट्रेक बने हैं और न ही पक्के घाट बने हैं। इसके साथ ही न ही इन तालाबों के पास बैठने के लिए पत्थर के बैंच लगे हैं और न ही हरियाली के लिए पेड़ पौधे लगे हैं। फिलहाल इन तालाबों की खुदाई मात्र ही हुईं हैं।

इस स्वतंत्रता दिवस भी नहीं आई फरीदाबाद के बेजान तालाबों में जान, मुख्यमंत्री के दावे हुए फेल

इस आधे अधूरे काम पर पंचायती राज विभाग के कार्यकारी अभियंता गजेंद्र सिंह का कहना है कि, पिछले दिनों में हुई वर्षा से काम प्रभावित हुआ है। लेकीन अब मौसम ठीक है, इसलिए अब जल्द ही तालाबों के अधूरे पड़े हुए कामों को शुरू किया जाएगा। ‌

इस स्वतंत्रता दिवस भी नहीं आई फरीदाबाद के बेजान तालाबों में जान, मुख्यमंत्री के दावे हुए फेल

जानकारी के लिए बता दें कि साल 2022 में अमृत सरोवर योजना के तहत केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर, परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा, विधायक राजेश नागर, विधायक सीमा त्रिखा, विधायक नीरज शर्मा और तत्कालीन मंडल आयुक्त संजय जून ने 1 मई को अटाली, गढ़खेड़ा, तिगांव, मोहला, धौज, पाली और भनकपुर में नारियल फोड़ कर तालाबों के निर्माण का शुभारंभ किया था।

Latest articles

बुजुर्गों के बाद अब बच्चों को भी होने लगी है ये गंभीर बीमारी, Faridabad के राजकीय स्कूलों में हेल्थ चेकअप के दौरान हुआ खुलासा

युवा और बुजुर्गों में बहुत अंतर है, जैसे की तजुर्बे का, स्वास्थ का, क्योंकि...

Faridabad में इस गंभीर बीमारी का आंकड़ा पहुंचा 100 के पार, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

शहर में आए दिन डेंगू के केस बढ़ते जा रहे है, जो की बहुत...

टूटी सड़कें और जलभराव के बाद Faridabad में एक नई समस्या ने लिया जन्म, यहां जानें क्या है वो समस्या

Faridabad की जनता के सामने मुसीबतें कम थी के अब एक नई समस्या ने...

Faridabad के इस इलाके में सरकारी जमीन पर लगता है अवैध बाजार, प्रशासन हैं बेपरवाह

फरीदाबाद टूटी हुई सड़कों, जल भराव और अवैध कब्जों के लिए प्रसिद्ध है। यहां...

More like this

बुजुर्गों के बाद अब बच्चों को भी होने लगी है ये गंभीर बीमारी, Faridabad के राजकीय स्कूलों में हेल्थ चेकअप के दौरान हुआ खुलासा

युवा और बुजुर्गों में बहुत अंतर है, जैसे की तजुर्बे का, स्वास्थ का, क्योंकि...

Faridabad में इस गंभीर बीमारी का आंकड़ा पहुंचा 100 के पार, यहां पढ़ें पूरी ख़बर

शहर में आए दिन डेंगू के केस बढ़ते जा रहे है, जो की बहुत...

टूटी सड़कें और जलभराव के बाद Faridabad में एक नई समस्या ने लिया जन्म, यहां जानें क्या है वो समस्या

Faridabad की जनता के सामने मुसीबतें कम थी के अब एक नई समस्या ने...