HomeFaridabadघोषणा के कई साल बाद भी नहीं हुआ Faridabad का यह काम...

घोषणा के कई साल बाद भी नहीं हुआ Faridabad का यह काम पूरा, अब डेडलाइन भी आ गई हैं पास

Published on

किसी भी काम की शुरुआत करने से पहले प्रदेश सरकार उसका प्रचार प्रसार बहुत जोरों शोरों से करती हैं, लेकिन उन कामों को पूरा उतने जोरों शोरों से नहीं करती हैं। दरअसल पिछले साल 11 जुलाई को बड़खल झील के ग्रे फाल्कन रेस्टोरेंट में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस के माध्यम से केंद्रीय राज्य मंत्री कृष्णपाल गुर्जर और विधायक सीमा त्रिखा ने ऐलान किया था कि, साल 2023 में फरीदाबाद का बड़खल लेक बनकर तैयार हो जाएगा। जिसे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिन पर शहरवासियो के लिए खोल दिया जाएगा।

घोषणा के कई साल बाद भी नहीं हुआ Faridabad का यह काम पूरा, अब डेडलाइन भी आ गई हैं पास

लेकिन अब आलम यह है PM नरेंद्र मोदी का जन्मदिन आने ही वाला हैं, लेकिन लेक का निर्माण कार्य अभी तक पूरा नहीं हुआ है। बता दें कि अभी तक बारिश का पानी झील तक पहुंचाने के लिए ड्रेनेज लाइन बनकर तैयार नहीं हुई है। ये ड्रेनेज लाइन सेक्टर 21B, SGM नगर, सेक्टर 45, 46 आदि सेक्टरों से लेकर बड़खल झील तक लाई जाएगी। साथ ही बांध और फुटपाथ भी बनकर तैयार नहीं हुए हैं।

घोषणा के कई साल बाद भी नहीं हुआ Faridabad का यह काम पूरा, अब डेडलाइन भी आ गई हैं पास

लेकिन वहीं चहारदीवारी और पार्किंग एरिया का काम लगभग पूरा हो गया है। और मरीन ड्राइव का काम अभी चल रहा हैं, जो 17 सितंबर तक पूरा नहीं होगा। इस पर विधायक सीमा त्रिखा का कहना है कि,” हां, हमने यह घोषणा की थी कि प्रधानमंत्री के जन्मदिन के अवसर पर झील का काम पूरा करवा कर पर्यटन प्रेमियों के लिए तैयार करवा दें। हमने इसके लिए पूरी कोशिश भी की, पर लगातार वर्षा के चलते सिविल वर्क बाधित हुआ। हमारे चार महीने बीच में व्यर्थ चले गए। अब मौसम ठीक होने पर काम गति पकड़ेगा।”

घोषणा के कई साल बाद भी नहीं हुआ Faridabad का यह काम पूरा, अब डेडलाइन भी आ गई हैं पास

जानकारी के लिए बता दे की 2005 तक यह झील दिल्ली एनसीआर के लोगों का सबसे पसंदीदा पर्यटन स्थल थी, लेकिन जैसे-जैसे यह झील सूखती गई वैसे वैसे लोगों ने इससे मोह तोड़ लिए।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...