HomeFaridabadपर्यटन विभाग के अधिकारियों की लापरवाही बन सकती है Faridabad के लिए...

पर्यटन विभाग के अधिकारियों की लापरवाही बन सकती है Faridabad के लिए आफ़त, यहां जानें कैसे

Published on

इस साल की दिवाली शहरवासियो के लिए बहुत ही ज्यादा ख़ास होने वाली है, क्योंकि इस बार 3 नवंबर से 10 नवंबर तक सूरजकुंड दिवाली मेले का आयोजन होने वाला हैं। इस दिवाली मेले के आयोजन से पहले ही पूरे प्रदेश भर में इसका प्रचार प्रसार तो बहुत जोरो शोरो से हो गया है। लेकिन आलम यह है कि पर्यटन विभाग के अधिकारियों ने अभी तक मेले को लेकर किसी भी तरह की तैयारियां शुरू नहीं की है।

पर्यटन विभाग के अधिकारियों की लापरवाही बन सकती है Faridabad के लिए आफ़त, यहां जानें कैसे

बता दें कि अभी तक यहां के हटो की मरम्मत नहीं की गई, जगह जगह कूड़े के ढेर जमा हो रखें है, साथ ही चौपाल भी अभी तक तैयार नहीं की गई है। फिलहाल मेला परिसर की ये हालत देख कर लग रहा है कि अधिकारियों की इस लापरवाही का हर्जाना शिल्पकारों और जनता को भुगतना पड़ सकता है।

पर्यटन विभाग के अधिकारियों की लापरवाही बन सकती है Faridabad के लिए आफ़त, यहां जानें कैसे

जानकारी के लिए बता दें कि यह मेला सूरजकुंड अंतराष्ट्रीय हस्तशिल्प मेले से बिलकुल ही अलग होगा, क्योंकि इस मेले में स्वदेशी उत्पादों को बढ़ावा दिया जाएगा। साथ ही आप लोगों को देश की विरासत और समृद्धि संस्कृति भी देखने को मिलेंगी। इस बार मेले में 500 से अधिक शिल्पकार और लोककलाकार हिस्सा लेंगे। वैसे इस बार 1200 स्टालों में से केवल 250 स्टाल ही कलाकारों को अलाट किए जाएंगे। ये स्टाल भी एक निजी कंपनी द्वारा अलाट किए जाएंगे।

मेला परिसर की इस हालत को लेकर हरियाणा पर्यटन निगम के वरिष्ठ प्रबंधक US भारद्वाज का कहना है कि,” नवंबर में लगने वाले मेले की तैयारी जल्द शुरू की जाएगी, इसके लिए एजेंसी को ठेका दिया गया है।”

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...