HomeReligionआखिर क्यों हर 12 साल में शिवजी के इस मंदिर में गिरती...

आखिर क्यों हर 12 साल में शिवजी के इस मंदिर में गिरती है आकाशीय बिजली

Published on

हर 12वें साल शिव मंदिर में ऐसा क्यों है होता, ये बात तो कुदरत या फिर खुद भगवान शिव जानते हैं। लेकिन इतना ज़रूर है कि इस मृत्युलोक में रहने वालों के लिए ये किसी रहस्य से कम नहीं। और जैसा शिव मंदिर में होता है उससे किसी को कोई हानि नहीं होती है और नाही मंदिर को ही कोई नुकसान पहुंचता है, इसे तो धरतीवासी चमत्कार ही कहते हैं।

देखिए जो चीज़ इंसान की पहुंच से परे होती है उसे इंसान या तो जादू मानता है या फिर कोई चमत्कार। क्योंकि इंसान की सोच से परे जो कुछ भी घटता है लोग उसे भगवान की कृपा या फिर ईश्वर की लीला ही मानते हैं। अब हम जिस शिव मंदिर का ज़िक्र आपके सामने करने जा रहे हैं उसके बारे में जानने के बाद आपके मन में कई सवाल घर कर जाएंगे।

आखिर क्यों हर 12 साल में शिवजी के इस मंदिर में गिरती है आकाशीय बिजली

क्योंकि इस शिव मंदिर में हर 12 साल में आकाशीय बिजली ज़रूर गिरती है। बतादें कि देशभर में शिव के कई मंदिर हैं और सभी की अपनी अनोखी विशेषता है। एक ऐसा ही अनोखा शिव मंदिर है हिमाचल प्रदेश के कुल्लू शहर में ब्यास और पार्वती नदी के मिलन के पास स्थित बिजली महादेव का मंदिर, इस मंदिर पर हर 12 साल में आकाशीय बिजली गिरती है।

हालांकि बिजली गिरने के बाद भी मंदिर को किसी भी प्रकार का कोई नुकसान नहीं होता है। बतादें कि पौराणिक मान्यताओं के मुताबिक ये मंदिर जिस घाटी पर बसा है, वो सांप के रूप में बना हुआ है। दरअसल भगवान शंकर ने इस सांप का वध किया था।

आखिर क्यों हर 12 साल में शिवजी के इस मंदिर में गिरती है आकाशीय बिजली

इस अनोखे मंदिर पर हर 12 साल में एक बार खतरनाक आकाशीय बिजली ज़रूर गिरती है। हालांकि बिजली के गिरने से मंदिर का शिवलिंग खंडित हो जाता है। शिवलिंग खंडित होने के बाद भी यहां के पंडित पूजा जारी रखते हैं। यहां के मंदिर के पूजारी खंडित शिवलिंग पर मरहम के तौर पर मक्खन लगाते हैं, जिससे की महादेव को इस दर्द से राहत मिल सके।

पौराणिक कथा के अनुसार बताया जाता है कि भगवान शिव ने कुलान्त का वध करने के बाद इन्द्र से कहा कि वो हर 12 साल में वहां पर बिजली गिराएं। ऐसा करने के लिए भगवान शिव जी का ये उद्येश था कि, जिससे जन-धन की हानी न हो।

आखिर क्यों हर 12 साल में शिवजी के इस मंदिर में गिरती है आकाशीय बिजली

भगवान खुद बिजली के झटके को सहन कर अपने भक्तों की रक्षा करते रहें। कहा जाता है कि भगवान शिव की लीला अपरंपार होती है और इनकी लीला का ना तो कोई जान पाया है और नाही समझ पाया है। लेकिन कहा ये भी जाता है कि जो भी भक्त अपने आराध्य शिव की पूरी निष्ठा और श्रद्धा को साथ पूजा करते हैं तो उनकी मनोकामना ज़रूर पूरी होती है।

आखिर क्यों हर 12 साल में शिवजी के इस मंदिर में गिरती है आकाशीय बिजली

इसी के साथ आराध्य शिव अपने भक्तों की रक्षा भी करते हैं, जिसका जीता-जागता उदाहरण ये भगवान का शिव मंदिर है। वरना हम सभी जानते हैं कि जहां आकाशीय बिजली गिरती है सब-कुछ नष्ट कर देती है। लेकिन यहां ऐसा कुछ भी नहीं होता है और सबसे बड़ी बात ये कि ये आकाशीय बिजली सिर्फ और सिर्फ मंदिर पर ही पड़ती है। अजब-गज़ब लीला है नटराज भोलेनाथ की।

Latest articles

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...

महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर रक्तदान कर बनें पुण्य के भागी : भारत अरोड़ा

श्री महारानी वैष्णव देवी मंदिर संस्थान द्वारा महारानी की प्राण प्रतिष्ठा दिवस के...

More like this

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

नृत्य मेरे लिए पूजा के योग्य है: कशीना

एक शिक्षक के रूप में होने और MRIS 14( मानव रचना इंटरनेशनल स्कूल सेक्टर...