Pehchan Faridabad
Know Your City

होम आइसोलेट रोगियों का रखा जायेगा अब और ध्यान स्वास्थ्य विभाग ने की टीम गठित

कोरोना संक्रमण की दर को देखते हुए 10 नई टीमो का गठन किया गया है को नियंत्रित करने के लिए प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज खुद होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों की मॉनिटरिंग करेंगे। इसके लिए प्रत्येक जिले में नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।

फरीदाबाद में स्वास्थ्य विभाग के उप निदेशक डॉ. सचित शर्मा को नोडल अधिकारी बनाया गया है। वह 2 दिन के औचक निरीक्षण पर फरीदाबाद भी आए थे और डिप्टी सिविल सर्जन डॉ. रमेश चंद के साथ होम आइसोलेशन में रहने वाले मरीजों का घर दौरा भी किया।

इस दौरान उन्होंने स्वास्थ्य विभाग की तरफ से दी जाने वाली स्वास्थ्य सुविधाओं के बारे में जानकारी जुटाई। उन्होंने होम आइसोलेशन की व्यवस्थाओं को और बेहतर बनाने के कुछ निर्देश अधिकारियों को दिए।

जिले में कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। इस समय 1300 एक्टिव केस हैं, जिनमें से 935 को होम आइसोलेशन में रखा गया है। अस्पताल में दाखिल मरीजों का ध्यान वहां से स्वास्थ्य कर्मी रखते हैं,

लेकिन होम आइसोलेशन में रह रहे मरीज नियमों का पालन कर रहे हैं या नहीं और स्वास्थ्य विभाग ने होम आइसोलेशन के लिए क्या व्यवस्था की है, इसकी जानकारी लेने के लिए नोडल अधिकारी नियुक्त किए गए हैं।

. सचित शर्मा के निर्देश के अनुसार सिविल सर्जन अधिकारी डॉ. रणदीप सिंह पुनिया ने 10 टीम बनाई है। इनमें डॉक्टर के अलावा आशा कार्यकर्ता, एएनएम, फील्ड वर्कर शामिल हैं और प्रत्येक टीम में पांच-पांच कर्मचारी रहेंगे। टीम के सदस्य एक दिन के अंतराल से संक्रमित के घर जाएंगे और फोन पर प्रतिदिन उसके स्वास्थ्य के बारे में पूछेंगे।

घर जाने पर टीम संक्रमित के स्वास्थ्य की जांच करेगी, शरीर का तापमान, ऑक्सीजन का स्तर, दवाओं आदि के बारे में जानकारी जुटाएगी। साथ ही परिवार के सदस्यों की भी जांच करेगी। अगर कोई संक्रमित गंभीर होता है,

तो उसे अस्पताल में दाखिल कराया जाएगा। टीम संक्रमितों को एक किट भी उपलब्ध कराएगी, जिसमें काढ़ा, रोग प्रतिरोधी गोलियां व विटामिन सी की गोलियां होंगी। होम आइसोलेशन विजिट रिपोर्ट स्वास्थ्य विभाग के पोर्टल पर अपलोड की जाएगी।

डॉ. सचित शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद व गुड़गांव जिले में कोरोना के काफी अधिक मामले हैं। उन्होंने बताया कि निरीक्षण पर पता चला है कि यहां पर होम आइसोलेशन की स्थिति काफी बेहतर है। अधिकारियों को कोरोना की की रोकथाम के लिए हर संभव प्रयास किए गए हैं।

होम आइसोलेशन के मरीजों की मॉनिटरिंग स्वास्थ्यमंत्री अनिल विज खुद करेंगे। सिविल सर्जन डॉ. रणदीप सिंह पुनिया ने बताया कि स्वास्थ्य निदेशक डॉ. राजीव अरोड़ा व उपनिदेशक डॉ. सचित के निर्देशानुसार दस टीमें बनाई हैं, जो डॉ. रमेश चंद की देखरेख में काम करेंगी। प्रत्येक टीम प्रतिदिन की रिपोर्ट पोर्टल पर अपडेट करेगी।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More