Pehchan Faridabad
Know Your City

अनिल विज ने किया ऐप ‘स्वच्छ हरियाणा’ का शुभारम्भ, जानिये क्या होगा ऐप से लाभ

हरियाणा के शहरी स्थानीय निकाय मंत्री श्री अनिल विज ने आज विभाग की एक वेबसाइट ulbharyana.gov.in तथा मोबाइल ऐप ‘स्वच्छ हरियाणा’ का शुभारम्भ किया। इनकी ऐप की सहायता से लोगों को स्वच्छता और वेबसाइट से प्रदेश की किसी भी नगरपालिका, परिषद तथा निगमों संबंधी जानकारी प्राप्त हो सकेगी।

श्री विज ने कहा कि 2 से 17 अक्तूबर तक प्रदेशभर में स्वच्छता पखवाड़ा मनाया जाएगा, जिसके तहत सभी नगर निगम, नगर परिषद तथा नगर पालिकाओं द्वारा ‘स्वच्छ हरियाणा, स्वच्छ भारत, सम्पन्न भारत’ पर कार्य करने के लिए लोगों को प्रोत्साहित किया जाएगा।

इस स्वच्छता पखवाड़े की शुरुआत 2 अक्तूबर को पंचकूला से मुख्यमंत्री श्री मनोहर लाल करेंगे। उन्होंने कहा कि स्वच्छ हरियाणा मोबाइल ऐप राज्य में सफाई व्यवस्था के प्रमाण पत्र के तौर पर सिद्घ होगी। इसके माध्यम से कोई भी व्यक्ति निकाय क्षेत्र में गंदी नाली, अस्वच्छ सडक़ या गंदगी के ढेर की फोटो लोड कर सकता है।

इसके मात्र 3 घंटे में विभाग की बैकअप टीमों द्वारा उस स्थान की सफाई होने की तस्वीर पुन: ऐप पर लोड की जाएगी। इसके अलावा स्ट्रीट लाईट खराब होने पर 24 घंटे में ठीक करना होगा अन्यथा इन मामलों में ठेकदार को 50 रुपए प्रति इंवेट प्रतिदिन के हिसाब से जुर्माना देना होगा।

निकाय मंत्री ने कहा कि इस स्वच्छता पखवाड़े के दौरान राज्य में कूड़ा एकत्र करना, सडक़, सीवरों व नालों की सफाई तथा कचरे के निपटान के लिए विशेष अभियान चलाया जाएगा। इसके लिए जिला नगर आयुक्त, जिला स्तर पर नोडल अधिकारी रहेंगे तथा जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग, एचएसआईआईडीसी, हरियाणा शहरी विकास प्राधिकरण व स्थानीय निकाय एकजुटता से इस अभियान को सफल बनाएंगे। उन्होंने कहा कि विभाग की वेबसाइट पर राज्य के सभी 88 निकायों की जानकारी उपलब्ध होगी।

श्री विज ने बताया कि राज्य के सभी नगर निगमों, परिषदों तथा पालिकाओं को कूड़ा-करकट बिन्दुओं की पहचान कर उनकी सफाई करवाने के निर्देश दिए गए हैं। इस दौरान राज्य में सार्वजनिक शौचालयों की सफाई व मरम्मत तथा सडक़ों को कूड़ा मुक्त करने पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। इस पखवाडे के दौरान सफाई व्यवस्था में सहयोग करने के लिए सामाजिक संस्थाओं का भी आह्वान किया।

इस अवसर पर शहरी स्थानीय निकाय विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव एस0एन0 राय, महानिदेशक श्री अमित अग्रवाल, एनआईसी के एसआईओ दीपक बंसल सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More