Pehchan Faridabad
Know Your City

मिलावट की आड़ में मुनाफा कमाने बैठे मिष्ठान भंडार पर खाद्य सुरक्षा अधिकारी के हल्ला बोलने से मचा हड़कंप

भले ही वैश्विक महामारी के जद से संपूर्ण देश उभर पाने में असमर्थ हो रहा है। परंतु इस महामारी की गहराई को समझते हुए लोगों ने इसके साथ जीना सीख लिया है, और अपनी सुरक्षा को अपनी जिम्मेदारी समझते हुए अपने कार्य पर ध्यान केंद्रित किया हुआ है।

ऐसे में जहां एक तरफ अमावस्या के अंधेरे को दूर कर रोशनी से उजाला भर देने वाला त्योहार यानी दीपावली दस्तक देने को है। वहीं दूसरी ओर आमजन की इस खुशी को मिठास से भरने की जगह मिलावट से भरने वाले लोगों पर तंज कसने के लिए खाद्य सुरक्षा अधिकारियों ने भी कमर कस ली है।

दीपावली में जितनी खुशियां एक दूसरे को मिठाई के रूप में मिठास बांटकर बाटी जाती है। उससे कई ज्यादा मुनाफा कमाने के लिए मिष्ठान भंडार पर कुंडली जमाए बैठे मिलावट खोर भी अपने कार्य में पूर्ण रूप से जुड़ जाते हैं, पर आमजन की खुशियों को किसी की नजर ना लगे।

इसी कड़ी में उपभोक्ता अधिकार संगठन के अनुग्रह पर फरीदाबाद को मिलावट खोर के चंगुल से बचाने के लिए फरीदाबाद जिले की खाद्य सुरक्षा अधिकारी डॉक्टर संदीप ने अपनी टीम गठित कर फरीदाबाद जवाहर कॉलोनी में जगह जगह बैठे मिष्ठान भंडार पर हल्ला बोला और मिठाइयों के नमूने की जांच की।

इस मौके पर उपभोक्ता अधिकार संगठन के प्रेसिडेंट पवन कुमार गौतम और सेक्रेटरी रवि सोलंकी ने भी जांच अधिकारियों की सहायता करते हुए संशय और शक के दायरे में आने वाली दुकानों का नाम दर्ज कराया और वहां जाकर बेधड़क दुकानों पर बन रही मिठाइयों के सैंपल एकत्रित किए।

इतना ही नहीं जांच अधिकारियों ने दुकानदारों को पहले ही आगाह कर दिया कि दीपावली खुशियों को त्योहार है। ऐसे में मिलावट कर उनके द्वारा खुशियों में जहर खोलने का प्रयास गैर कानूनी है। अगर दुकानदार इसके बावजूद बाज नहीं आते तो, उनके खिलाफ कानूनी कार्यवाही अमल में लाई जाएगी।

वहीं इस मौके पर मौजूद उपभोक्ता अधिकारी संगठन के प्रेसिडेंट पवन कुमार गौतम और सिक्योरिटी रवि सोलंकी ने बताया कि उन्होंने प्रण लिया है कि वह दीपावली से पहले शहर को मिलावट खोर और मिलावटी मिठाइयों से मुक्त कर देंगे।

उन्होंने कहा कि एक तो लंबे समय से लोग देशभर में चल रही वैश्विक महामारी के चलते परेशानी का सामना कर रहे थे। ऐसे में महीनों बाद आई खुशियों में भी अगर कोई खलल डालने का प्रयास करेगा तो, ऐसे लोगों को बर्खास्त कर दिया जाएगा।

उन्होंने यह भी बताया कि जांच अधिकारियों द्वारा जिन दुकानों के सैंपल एकत्रित किए गए हैं, उनकी रिपोर्ट आने पर इसके बारे में आमजन से भी साझा किया जाएगा।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More