Online se Dil tak

मलाणा-एक अजीब गांव, चलते हैं भारत के सबसे अजीब कानून, भारतीय एक बार ज़रूर जाने

दुनिया कई ऐसे रहस्यों से भरी पड़ी हैं, जिन्हें आज तक कोई नहीं सुलझा पाया। वहीं इन उलझी हुई गुत्थियों को सुलझाने की हर किसी ने कोशिश की है। दरअसल वैज्ञानिक या शोधकर्ता जितनी बार भी इन रहस्यों के पीछे का सच जानने की कोशिश करते हैं, वो उतना ही उलझ जाते।

आज हम आपको ऐसी ही एक रहस्यमयी जगह के बारे में बताने जा रहे हैं। दरअसल, कुछ ऐसी ही जगह हिमाचल प्रदेश में भी है। यहां का एक गांव अपने आप में बेहद ही रहस्यमयी है। इस गांव के लोग ऐसी भाषा में बात करते हैं, जो यहां के लोगों के अलावा किसी को भी समझ में नहीं आती है।

मलाणा-एक अजीब गांव, चलते हैं भारत के सबसे अजीब कानून, भारतीय एक बार ज़रूर जाने
मलाणा-एक अजीब गांव, चलते हैं भारत के सबसे अजीब कानून, भारतीय एक बार ज़रूर जाने

इस गांव का नाम है मलाणा। हिमालय की चोटियों के बीच स्थित मलाणा गांव चारों तरफ से गहरी खाइयों और बर्फीले पहाड़ों से घिरा है। करीब 1700 लोगों की आबादी वाला ये गांव सैलानियों के बीच खूब मशहूर है। आपको बता दे मलाणा गांव खुद में एक रहस्य बना हुआ है।

मलाणा-एक अजीब गांव, चलते हैं भारत के सबसे अजीब कानून, भारतीय एक बार ज़रूर जाने
मलाणा-एक अजीब गांव, चलते हैं भारत के सबसे अजीब कानून, भारतीय एक बार ज़रूर जाने

इसी के साथ बताते चले कि मलाणा गांव की सामाजिक सरंचना यहां के ऋषि जमलू देवता के अविचलित विश्वास व् श्रद्धा पर टिकी हुई है। पूरे गांव के प्रशासन को एक ग्राम परिषद के माध्यम से ऋषि जमलू के नियमों द्वारा नियंत्रित किया जाता है। इस ग्राम परिषद में 11 सदस्य होते हैं, जिनको ऋषि जमलू के प्रतिनिधियों के रूप में जाना जाता है।

मलाणा-एक अजीब गांव, चलते हैं भारत के सबसे अजीब कानून, भारतीय एक बार ज़रूर जाने
मलाणा-एक अजीब गांव, चलते हैं भारत के सबसे अजीब कानून, भारतीय एक बार ज़रूर जाने

इस परिषद द्वारा लिया गया फैसला अंतिम होता है और यहां पर गांव के बाहर वालों के कोई नियम लागू नहीं होते। इस गांव को लेकर कई रहस्य छिपे हुए है। यहां के लोग कनाशी नाम की भाषा बोलते हैं, जो बेहद ही रहस्यमय है।

मलाणा-एक अजीब गांव, चलते हैं भारत के सबसे अजीब कानून, भारतीय एक बार ज़रूर जाने
मलाणा-एक अजीब गांव, चलते हैं भारत के सबसे अजीब कानून, भारतीय एक बार ज़रूर जाने

वो इसे एक पवित्र जबान मानते हैं। इसकी खास बात ये है कि ये भाषा मलाणा के अलावा दुनिया में कहीं और नहीं बोली जाती। इस भाषा को बाहरी लोगों को नहीं सिखाया जाता है।

Read More

Recent