HomePoliticsलालू के समधी ने सोनिया से मांगा बिहार में हार का हिसा

लालू के समधी ने सोनिया से मांगा बिहार में हार का हिसा

Published on

तेजस्वी की बहन अनुष्का के ससुर हैं हरियाणा के पूर्व मंत्री कैप्टन अजय यादव

-कांग्रेस स्टार प्रचारक नहीं होने के बावजूद कैप्टन ने बिहार में किया था प्रचार

बिहार चुनाव में राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (एनडीए) की अप्रत्याशित जीत हुई है। मुख्यमंत्री नीतिश कुमार के नेतृत्व में बिहार में एनडीए को 243 विधायकों वाली विधानसभा में 126 सीट मिली हैं। इसमें भाजपा को 74,जनता दल यूनाइटिड को 43, निर्दलीय समर्थन 1,हम 4, वीआइपी 4 शामिल हैं। नीतिश कुमार एक बार फिर सोमवार को सीएम पद की शपथ लेंगे।

लालू के समधी ने सोनिया से मांगा बिहार में हार का हिसा

10 नवंबर को चुनाव परिणाम आने से पहले इलेक्ट्रानिक चैनल से लेकर प्रिंट मीडिया तक में एक्जिट पोल के नतीजों के आधार पर यह कहा जा रहा था कि बिहार में इस बार पूर्व सीएम लालू प्रसाद यादव के बेटे तेजस्वी यादव के नेतृत्व में सरकार बनेगी। तेजस्वी यादव के नेतृत्व में लालू की पार्टी को 75 सीट पर जीत मिली यानी भाजपा से भी एक सीट ज्यादा तेजस्वी ने जीती मगर यहां तो कांग्रेस ने तेजस्वी की लुटिया डुबो दी।

कांग्रेस ने बिहार में गठबंधन के तहत 70 सीटों पर चुनाव लड़ा और महज 19 पर ही जीत दर्ज की जबकि यहां कांग्रेस के युवराज राहुल गांधी ने 52 विधानसभा सीटों के लिए 8 क्षेत्रों में रैलियां की।

लालू के समधी ने सोनिया से मांगा बिहार में हार का हिसा

आंकड़ों के आधार पर यह भी बताया जा रहा है कि जहां-जहां राहुल गांधी गए थे वहां-वहां कांग्रेस प्रत्याशी हार गए। कांग्रेस की वैतरनी पार लगाने दिल्ली से बिहार गए राष्ट्रीय महासचिव रणदीप सुरजेवाला भी कुछ चमत्कार नहीं कर सके। कांग्रेस ने यहां प्रचार के लिए 30 प्रचारकों को भी झोंका था मगर कहीं कोई चमत्कार नहीं कर सका।

लालू के समधी ने सोनिया से मांगा बिहार में हार का हिसा

अब लालू प्रसाद यादव के समधी और हरियाणा कांग्रेस के नेता एवं पूर्व मंत्री कैप्टन अजय यादव ने सोनिया गांधी को ट्वीट करके कहा है कि वह इस हार के कारणों की जांच कराएं। एक तरह से कैप्टन ने सोनिया गांधी से हिसाब मांगा है। अब सोनिया गांधी क्या हिसाब देंगी। उनके खुद के बेटे राहुल गांधी ही कुछ चमत्कार नहीं कर पाए। जिन 52 सीटों पर उन्होंने प्रचार किया, उनमें से ज्यादातर सीट पार्टी हार गई। वहां के हारे हुए नेता तो यहां तक दबी जुबान में कह रहे हैं कि राहुल गांधी की रैली से पहले उनकी जीत सुनिश्चित थी।

कैप्टन अजय यादव रेवाड़ी के नेता हैं और उनके बेटे चिरंजीव राव फिलहाल रेवाड़ी से कांग्रेस के विधायक हैं। चिरंजीव राव की ही लालू की बेटी अनुष्का से विवाह हुआ है। खैर, सोनिया गांधी लालू के समधी को कोई जवाब दे या नहीं मगर उनके खासमखास कैप्टन से यह सवाल पूछ सकते हैं कि वे जब कांग्रेस के स्टार प्रचारकों की सूची में भी शामिल नहीं थे तो फिर वे बिहार में 16 अक्टूबर से 5 नवंबर तक क्यों रहे। वहां रहकर उन्होंने क्या किया। क्या पार्टी ने उनकी बिहार चुनाव के लिए जिम्मेदारी लगाई थी।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...