Pehchan Faridabad
Know Your City

3 महीने बाद दिखा संक्रमण का असर, लगातार नीचे गिरा संक्रमण से ठीक होने वाले मरीजों का सूचकांक

फरीदाबाद जिले में बढ़ता वैश्विक महामारी का स्तर चिंतनीय विषय बना प्रतीत हो रहा है। जहां जिले में एक तरफ संक्रमित मरीजों का आंकड़ा बढ़ता जा रहा है वहीं रिकवरी रेट भी नीचे झुकता हुआ दिखाई दे रहा है। स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार
फरीदाबाद जिले में संक्रमित मरीजों का रिकवरी रेट एक बार फिर से 90 प्रतिशत से नीचे पहुंच गया है।

वही आंकड़ों के अनुसार 15 नवंबर तक जिले में कोरोना का रिकवरी रेट 89.5 प्रतिशत तक पहुंच गया है। मरीजों की संख्या बढ़ते रहने की स्थिति में यह और भी कम हो सकता है। जुलाई महीने में जिले में कोरोना मरीजों की संख्या काफी तेजी से बढ़ी थी।

उस समय कोरोना कर रिकवरी रेट 90 प्रतिशत से कम बना हुआ था, लेकिन अगस्त महीने की शुरुआत से मरीजों के ठीक होने की रफ्तार तेज हुई, जिससे रिकवरी रेट 90 प्रतिशत से ऊपर पहुंच गया था। सितंबर में यह 94.7 प्रतिशत तक पहुंच गया था। सितंबर की शुरुआत से एक बार फिर काफी तेजी से मरीजों की संख्या बढ़ना शुरू हुई है।

वही दिन प्रतिदिन आंखों में जोड़ने वाले नए आंकड़ों का रिकॉर्ड नया रिकॉर्ड कायम तारीफ करता जा रहा है। 13 नवंबर से बाद से 15 तक रोजाना 600 से अधिक नए केस मिल रहे हैं। 13 नवंबर को 632 नए मरीज, 14 नवंबर को 621 नए मरीज और 15 नवंबर को 643 नए मरीजों की पहचान स्वास्थ्य विभाग ने की है। इन तीन दिनों में 1896 नए कोरोना संक्रमित मिले हैं।

रिकवरी रेट कम होने से एक्टिव केस रेट भी बढ़कर 9.6 प्रतिशत तक पहुंच गया है। 15 नवंबर तक जिले में एक्टिव केसों की संख्या 3111 थी, जिसमें से 2700 मरीज होम आइसोलेशन में हैं और 411 अस्पतालों में दाखिल हैं।

डिप्टी सिविल सर्जन डॉ राम भगत का कहना है


कोरोना का रिकवरी रेट लंबे समय के बाद 90 प्रतिशत से नीचे पहुंचा है। पिछले कुछ दिनों में नए मरीजों की तुलना में ठीक होने वाले लोगों की संख्या कम रही है, जिससे रिकवरी रेट कम हुआ है। फिलहाल संक्रमण का खतरा बना हुआ है, इसलिए लोगों को लापरवाह रवैया छोड़ना होगा। बिना कारण से भीड़भाड़ वाली जगहों पर जाने से बचें। साथ ही मास्क व सोशल डिस्टेंसिंग के नियम का पालन करें।

जिले में अभी उपलब्ध है मात्र 185 आईसीयू बेड 145 वेंटिलेटर

जिले में कोरोना लिए सरकारी और निजी असप्तालों में आईसीयू और वेंटिलेटर आरक्षित किए गए हैं। जिला कोविड अधिकारी डॉ. रामभगत ने बताया कि जिले में करीब 1910 बेड आइसोलेशन के लिए हैं। जिले के विभिन्न अस्पतालों में इनमें 185 बेड आईसीयू और 145 बेड वेंटिलेटर के साथ है और 785 बेड ऑक्सीजन के साथ उपलब्ध हैं। जिले में ईएसआईसी को डेडिकेटिड कोविड अस्पताल बनाया गया है, जिसमें कुल 90 आईसीयू बेड मौजूद हैं। यहां कोविड के मरीजों के लिए करीब 20 वेंटिलेटर भी हैं। इसके अलावा क्यूआरजी में 24 आईसीयू बेड और 24 वेंटिलेटर, एशियन में 20 आईसीयू बेड और 20 वेंटिलेटर हैं। शांति देवी मैमोरिल अस्पताल में चार आईसीयू बेड और एक वेंटिलेटर आरक्षित है।

फरीदाबाद में सर्वाधिक संक्रमण मौत को गले लगाने वाला आंकड़ा

सबसे अधिक 282 संक्रमितों मृत्यु फरीदाबाद में प्रदेश में कोरोना सक्रमितों की सबसे अधिक मृत्यु फरीदाबाद में हो रही हैं। अब तक यहां 282 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। जबकि गुरुग्राम 244 आंकड़े के साथ दूसरे पायदान पर है। फरीदाबाद में नवंबर में 34 संक्रमितों की मौत हो चुकी है। प्रतिदिन दो लोगों की मौत दर्ज की जा रही है। इससे पहले जून में करीब 70 संक्रमितों की मौत हुई थी।

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More