HomeInternationalइस मंदिर के चमत्कार के वजह से यहां लोग पालते हैं शेर,...

इस मंदिर के चमत्कार के वजह से यहां लोग पालते हैं शेर, बच्चे की तरह रखते है ख़्याल

Published on

अक्सर अपने देखा होगा लोग बिल्ली या कुत्ता पालते है लेकिन एक ऐसा देश जहां खूंखार जानवर पाले जाते है। आपको जानकर हैरानी होगी कि ये खूंखार जानवर भी इंसानों के साथ बड़े ही घुल मिलकर रहते है। एक ऐसा जानवर जिसे छोड़ दिया जाए तो इंसानों को खा जाएगा लेकिन इस देश में जानवरों की अलग ही परिभाषा है।

जी हां हम बात कर रहे है थाईलैंड के बौद्ध मंदिर की। जहां खूंखार जानवर बच्चे की तरह पाले जाते है। चलिए बता देते है वो खूंखार जानवर कौन है जिसे बड़े प्यार से पाला जाता है वो है शेर बाघ चीता, आपको सुनकर हैरानी हुई होगी दरअसल यहां ये जानवर इंसानों के साथ हंसी खुशी रहते है।

इस मंदिर के चमत्कार के वजह से यहां लोग पालते हैं शेर, बच्चे की तरह रखते है ख़्याल

हालांकि शेरो को इस तरह रखना कानून के खिलाफ है लेकिन इस मंदिर पर ये कानून लागु नहीं होता है क्योंकि लाख विवादों के बाद भी यहा कुछ ऐसा है जो सरकार को सख्त होने से रोक देता है।

इस मंदिर के चमत्कार के वजह से यहां लोग पालते हैं शेर, बच्चे की तरह रखते है ख़्याल

उन लोगों का कहना था की यहां शेरो को बेरहमी से और ड्रग देके नियंत्रित रखा जाता है लेकिन आप को भी ये जान के आश्चर्य होगा की सिर्फ बौद्ध भिक्षु उन्हें अपने खुद के इज्जत किये तरीको से कुछ इस तरह पालते है को वो आम लोगों के साथ घुल मिलके रहते है।

इस मंदिर के चमत्कार के वजह से यहां लोग पालते हैं शेर, बच्चे की तरह रखते है ख़्याल

आपको बता दे कि अब तो ये थाईलैंड का एक टूरिस्ट डेस्टिनेशन बन चूका है यहां साल भर में लाखों सैलानी आते है और खुले में शेरो के बीच मानवीय तरह से रहने का अनुभव उठाते है।

इस मंदिर के चमत्कार के वजह से यहां लोग पालते हैं शेर, बच्चे की तरह रखते है ख़्याल

आपको बता दे कि थाईलैंड में जानवरों की तस्करी ज्यादा होने लगी थी जिस कारण बहुत सारे जानवर मारे गए थे। इस देश में शेरों को पालने की कहानी भी अजब है एक दिन एक किसान को जंगल में शेर का बच्चा मिला था

इस मंदिर के चमत्कार के वजह से यहां लोग पालते हैं शेर, बच्चे की तरह रखते है ख़्याल

जिसकी माँ को शिकारियों ने मार दिया था। तब उस शेर को मंदिर में पाला गया और देखते देखते ही यंहा अब डेढ़ सौ के करीब शेर हो गए है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...