HomePublic Issueश्यामा प्रसाद मुखर्जी योजना के तहत कलेस्टर गांव की होगी काया पलट

श्यामा प्रसाद मुखर्जी योजना के तहत कलेस्टर गांव की होगी काया पलट

Published on

तिगांव कलेक्टर के सभी गांव को शहर जैसा रूप और मूलभूत सुविधाएं देने के प्रकरण के लिए केंद्र सरकार की तरफ से शुरू की गई श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूब्रन योजना का सहारा लिया जा रहा है।

इस प्रकरण में सर्वप्रथम आंगनवाड़ी भवन बनाने का कार्य किया जाएगा। यह निर्माण कार्य अतिरिक्त उपायुक्त कार्यालय की ग्रामीण विकास अभिकरण के अंतर्गत निर्माण केंद्र एजेंसी द्वारा किया जाएगा। जल्दी ही इन गांवों को आधुनिक सुविधाओं से लैस आंगनबाड़ी केंद्र बना कर दे दिए जाएंगे।

श्यामा प्रसाद मुखर्जी योजना के तहत कलेस्टर गांव की होगी काया पलट

केंद्र सरकार द्वारा आबादी के घनत्व वाले गांवों का एक क्लस्टर बनाकर उनमें शहर जैसी सुविधा मुहैया कराने के लिए फरवरी-2016 में श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन की शुरुआत की गई थी। उक्त मिशन के तहत गांवों में रोजगार, स्टेडियम, आंगनबांडी केंद्र, स्कूल-कालेज बना कर तैयार करना है। इसी कड़ी में फरीदाबाद जिले के अंतर्गत इस योजना के अंतर्गत तिगांव क्लस्टर का चयन किया गया।

तिगांव कलस्टर में शामिल पंचायततिगांव अधाना पट्टी, तिगांव, भुआपुर, ढहकौला, सदपुरा, शाहबाद, फत्त्तुपुरा, चीरसी, कबूलपुर पट्टी महताब, कबलूपुर, महमूदपुर को शामिल किया गया। जिसके चलते अब सरकार द्वारा उक्त गांव में विकास कार्य को शुरू करने का प्रयास किया जा चुका है। गांव में विकास कार्य कराने के लिए करीबन 5 करोड़ रूपए का लागत प्रस्तुत किया गया है,

श्यामा प्रसाद मुखर्जी योजना के तहत कलेस्टर गांव की होगी काया पलट

जिसमें से डेढ़ करोड़ रूपए स्वच्छ जलापूर्ति अभियांत्रिकी विभाग को दिए गए हैं। इससे गांवों में जल जीवन मिशन के तहत पीने के पानी का घर-घर में कनेक्शन देने के लिए पाइप लाइन डालने का कार्य चल रहा है। श्यामा प्रसाद मुखर्जी रुर्बन मिशन के तहत सरकार ने दो करोड़ रुपये तिगांव में लाइब्रेरी बनाने के लिए दिए हैं, लेकिन यहां पंचायत के पास जमीन नहीं है। इसलिए अब राशि को क्लस्टर के किसी दूसरे गांव में तब्दील किया जाएगा।

रुर्बन स्कीम से तिगांव में तीन व ढहकौला में दो आंगनबाड़ी केंद्रों के भवनों का निर्माण कार्य चल रहा है। तिगांव में चौथी आंगनबाड़ी के भवन का निर्माण कार्य शुरू किया जाएगा। गांव सदपुरा में आंगनबाड़ी का भवन बनाने के लिए जमीन नहीं मिली है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...