HomeBusinessयमुना एक्सप्रेस-वे के किनारे बसेगा एक और औद्योगिक शहर, इन जिलों के...

यमुना एक्सप्रेस-वे के किनारे बसेगा एक और औद्योगिक शहर, इन जिलों के लोगों की होगी ‘बल्ले-बल्ले’

Published on

एक और शहर बसाने के लिए यमुना एक्सप्रेस-वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण के मास्टर प्लान पर प्रदेश सरकार ने अपनी मुहर लगा दी है। यमुना एक्सप्रेस-वे के किनारे राया (मथुरा) के पास 9350 हेक्टेयर में नया वृंदावन शहर बसाया जाएगा।

नए शहर में सबसे अधिक जोर पर्यटन पर होगा। आपको बता दे कि इसको बसाने में करीब 7 हजार करोड़ रुपये खर्च होंगे। यमुना प्राधिकरण ने एक और शहर बसाने के लिए योजना तैयार कर ली है। यमुना एक्सप्रेस-वे के किनारे राया में नया शहर बसाया जाएगा। इसका मास्टर प्लान बन गया है।

यमुना एक्सप्रेस-वे के किनारे बसेगा एक और औद्योगिक शहर, इन जिलों के लोगों की होगी 'बल्ले-बल्ले'

सरकार ने इसको मंजूरी दे दी है। बताया जा रहा है कि इसके बनने के साथ ही कई जिलों के गावों का तेजी से विकास हो सकेगा। दरअसल, यमुना एक्सप्रेस-वे किनारे 11104 हेक्टेयर में बसने वाले शहर का नाम टप्पल बाजना अर्बन सेंटर रखने पर विचार किया जा रहा है।

प्राधिकरण के अधिकारियों की मानें तो इस नए शहर में लॉजिस्टिक एवं वेयर हाउसिंग कलस्टर तैयार किया जाएगा।

यमुना एक्सप्रेस-वे के किनारे बसेगा एक और औद्योगिक शहर, इन जिलों के लोगों की होगी 'बल्ले-बल्ले'

बता दें कि यमुना प्राधिकरण के अंतर्गत छह जिले आते हैं और प्राधिकरण का अधिसूचित क्षेत्र यमुना एक्सप्रेस वे के किनारे आता है। अधिकारियों का कहना है कि जेवर में एयरपोर्ट बनने की घोषणा होने के बाद अब नए शहर बसाने की जरूरत है।

यमुना एक्सप्रेस-वे के किनारे बसेगा एक और औद्योगिक शहर, इन जिलों के लोगों की होगी 'बल्ले-बल्ले'

क्योंकि तेजी से लोगों का रुझान यमुना एक्सप्रेस-वे की ओर बढ़ रहा है। जिसके कारण लोगों को तमाम सुविधाएं मुहैया कराने के लिए पहले से ही तैयारी करने की जरूरत है।

इसी को ध्यान में रखते हुए टप्पल बाजना में नया औद्योगिक शहर बसाने का फैसला किया गया है। वहीं यमुना प्राधिकरण के सीईओ डॉ. अरुणवीर सिंह ने बताया कि अब नए शहर की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) बनवाई जाएगी।

यमुना एक्सप्रेस-वे के किनारे बसेगा एक और औद्योगिक शहर, इन जिलों के लोगों की होगी 'बल्ले-बल्ले'

इसके लिए जल्द एजेंसी का चयन किया जाएगा। इसका काम जेवर एयरपोर्ट के साथ शुरू होगा। अगले 4 साल में इस परियोजना को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...