Pehchan Faridabad
Know Your City

पौराणिक मान्यताओं के आधार पर अयोध्या पवित्र सप्तपुरियों में से एक है। आइये जानते है इसकी कुछ महत्वपूर्ण बातें

हिन्दू पौराणिक मान्यताओ के मुताबिक अयोध्या पवित्र स्थानों में से एक है। यहां पर भगवान श्री राम का जन्म हुआ था।
आज हम आपको अयोध्या नगरी से जुड़े कुछ तथ्यों के बारे में बताएंगे।

1. धार्मिक कथाओं के अनुसार भगवान विष्णु ने अपने रामावतार के लिए ब्रह्मा, मनु, विश्वकर्मा और महर्षि वशिष्ठ को भेजा था। पौराणिक मान्यताओं के अनुसर महिर्षि वशिष्ठ द्वारा सरयू नदी के तट पर अयोध्या नगरी का चयन किया गया ओर विश्कर्मा जी ने इस नगर का निर्माण किया।



2. पौराणिक मान्यताओं के आधार पर अयोध्या पवित्र सप्तपुरियों में से एक है। अयोध्या के अलावा मथुरा, माया, काशी,कांची, उज्जयिनी ओर द्वारिका पवित्र स्थानों में से एक है। ये सभी नगर भी पवित्र माने गए है।

3.ऐसा भी कहा जाता है कि सूर्य के पुत्र वैवस्वत मनु महाराज ने अयोध्या की स्थापना की थी। राजा दशरथ अयोध्या के 63वें शासक थे। प्राचीन उल्लेखों के अनुसार तब अयोध्या का क्षेत्रफल 96 वर्ग मील था।

4. ऐसे कहा जाता है कि भगवान श्री राम के अपने धाम जाने के बाद अयोध्या नगरी सुनी हो गई थी क्योकी श्री राम के साथ किट पतंगे भी साथ चले गए थे।

5. अयोध्या नगरी भगवान विष्णु के चक्र पर विराजमान हैं।

6. अयोध्या सिख धर्म का भी पवित्र स्थल है। यहां के ब्रह्मकुण्ड नामक स्थान पर गुरुनानकदेवजी ने तप किया था।
 
7.श्री राम जी काल में अयोध्या नगरी की व्यापारिक केंद्रों के रूप में गिनती होती थी।बाल्मीकि रामायण के अनुसार यहाँ विभिन्न देशों के कारोबारी आया जाया करते थे।

Writtten by-Sonali chauhan.

This website uses cookies to improve your experience. We'll assume you're ok with this, but you can opt-out if you wish. Accept Read More