HomeReligionअरावली के पहाड़ियो में छिपा है रहस्य परसोन मंदिर जानते हैं इस...

अरावली के पहाड़ियो में छिपा है रहस्य परसोन मंदिर जानते हैं इस मंदिर के नाम से जुड़ी कहानी –

Published on

फरीदाबाद ऐतिहासिक स्थानों के लिए काफी प्रसिद्ध हैं। यह अरावली की पहाड़ियो का रहस्मय मंदिर है। आज हम आपको बड़खल झील के पास बने हुए परसोन मंदिर के बारे में बताएंगे।
*यह ऋषि पाराशर की तपोभूमि है। इसका वर्णन अनेक ग्रन्थों में भी किया गया है। परसोन मंदिर का नाम इस जगह को जन्म देने वाले ऋषि पाराशर के नाम पर रखा गया हैं।

अरावली के पहाड़ियो में छिपा है रहस्य परसोन मंदिर जानते हैं इस मंदिर के नाम से जुड़ी कहानी -

*परसोन मंदिर के महंत अमरदास बताते हैं कि ऋषि पाराशर ने अपने बल और तप से इस भूमि को शक्तियों से भर दिया था। इसलिए इस क्षेत्र का नाम परसोन पड़ा।
*परसोन मंदिर फरीदाबाद का काफी प्रसिद्ध मंदिर है। फरीदाबाद का परसोन मंदिर हज़ारो साल पुराना बना हुआ है और सबसे बड़ी खासियत यह है कि अरावली पहाड़ियो के बीच में इस मंदिर की स्थापना कई साल पहले हुई।

अरावली के पहाड़ियो में छिपा है रहस्य परसोन मंदिर जानते हैं इस मंदिर के नाम से जुड़ी कहानी -

*आपको बता दे परसोन मंदिर के पर एक कुंड बना हुआ है और कुंड के अंदर पानी होता है लेकिन इस कुंड में पानी कभी खत्म नही होता।
कुछ लोगो का ऐसा कहना है कि इस कुंड में स्नान करने से लोगो के पाप औऱ बीमारियां दूर हो जाती है। हर सावन में यहाँ हज़ारो लोग आते हैं मेला भी लगता हैं और विशाल भंडारे भी होते हैं।

*आप कैसे जा सकते हो परसोन मंदिर-
दिल्ली से परसोन जाने के लिए सूरजकुंड रोड होते हुए बड़खल झील पहुचना होगा। परसोन मंदिर जाने के लिए सूरजकुंड रोड होते हुए बड़खल झील पहुंचना होगा। यहाँ पर जाने के बाद किसी से भी पहुँचने के बाद किसी से भी पूछने पर आसानी से परसोन मंदिर का रास्ता पता चल जाता है।

Written by – Sonali chauhan.

Latest articles

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती – रेणु भाटिया (हरियाणा महिला आयोग की Chairperson)

मैं किसी बेटी का अपमान बर्दाश्त नहीं कर सकती। इसके लिए मैं कुछ भी...

More like this

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है: कशीना

भगवान आस्था है, मां पूजा है, मां वंदनीय हैं, मां आत्मीय है, इसका संबंध...

भाजपा के जुमले इस चुनाव में नहीं चल रहे हैं: NIT विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा

एनआईटी विधानसभा-86 के विधायक नीरज शर्मा ने बताया कि फरीदाबाद लोकसभा सीट से पूर्व...